भोपाल एसटीएफ को मिली बड़ी सफलता !

भोपाल एसटीएफ को मिली बड़ी सफलता !

मध्यप्रदेश-राजधानी भोपाल में एसटीएफ को बड़ी सफलता मिली है। नादरा बस स्टेंड पर एक करोड़ की ड्रग्स के साथ तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
ड्रग्स की खेप पश्चिम बंगाल से आई थी।

एसटीएफ ने नादरा बस स्टेंड के पास तीन युवकों के पास से एक किलो ओपियम पाउडर बरामद किया है। तस्करों के पास से जब्त मादक पदार्थ की कीमत अतर्राष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ रुपए बताई जाती है।

पुलिस पूछताछ में आरापितों ने नशे की खेप पश्चिम बंगाल के मालदा से लाने की बात कबूल की है। तीनों युवक दो दिन की पुलिस रिमांड पर हैं।

एसटीएफ एसपी राजेशसिंह भदौरिया ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर सोमवार को नादरा बस स्टेंड के पास संदिग्ध हालत में घूम रहे तीन युवकों की तलाशी ली गई। इस दौरान दो युवकों ने पास शर्ट के अंदर छिपाकर रखा गया मादक पदार्थ बरामद हुआ।

आधा-आधा किलो की मात्रा में दो पॉलीथिन में अलग-अलग रखे पाउडर की पहचान ओपियम पाउडर के रूप में हुई।आरोपितों की पहचान रतलाम निवासी दीपक लोढ़ा ,मंदसौर निवासी अहमद हुसैन उर्फ नारू और अर्जुन के रूप में हुई।

नारकोटिक्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर आरोपितों को कोर्ट में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

एसपी भदौरिया के मुताबिक 16 से 20 किलो तक अफीम को केमिकल की मदद से परिष्कृत करने पर एक किलो ओपियम पाउडर बनता है। वजन में हल्का और गंधहीन होने से यह पाउडर तस्करी के दौरान मुश्किल से पकड़ में आता है।

खास बात यह है कि इस पाउडर की मदद से ब्राउनशुगर,स्मैक, हेरोइन तैयार होती है। जो 2 से 5 ग्राम तक की पुड़ियों की शक्ल में बेची जाती है। नशे के सौदागर अपनी बोलचाल में ओपियम पाउडर को श्क्रूडश् या श्फाइन कहते हैं।

पुछताछ में युवकों ने पुलिस को बताया कि वह पूर्व में मंदसौर,चित्तौड़गढ़,रतलाम में ओपियम पाउडर ठिकाने लगा चुके हैं। वहां नशे के सौदागरों से युवकों के संबंधों के बारे में पुलिस को अहम सुराग मिले हैं।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0