देशद्रोही वाली टिप्पणी गरमाई सियासत, दिग्गी ने शिवराज को ललकारा !

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को ‘देशद्रोही’ बताने वाले बयान पर सियासत गर्मा गई है। वहीं, दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज को तल्ख अंदाज में लिखे पत्र में ‘देशद्रोही’ होने के सबूत सार्वजानिक करने और उन पर मुकदमा दायर करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने कहा है अगर आपके पास मुझ पर आरोप लगाने का कोई तथ्यात्मक आधार नहीं है तो सार्वजानिक रूप से माफ़ी मांगे। दिग्विजय ने कहा है कि वो स्वयं 26 जुलाई को अपनी गिरफ्तारी देने टीटी नगर पुलिस थाने भी जाएंगे और खुद को कानून के हवाले करेंगे।

11---DIGGI-SHIVRAJ

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा इस दौरान आप अपने प्रशासन को मेरे विरुद्ध ‘देशद्रोह’ के सभी प्रमाण उपलब्ध करवा दें, ताकि मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और गिरफ्तारी करने में कोई कानूनी अड़चन नहीं आए। अपने पत्र में दिग्विजय ने कहा कि मुख्यमंत्री का कर्तव्य कोरी बयानबाजी करना नहीं, बल्कि कर्तव्यों का पालन करना भी है। अगर मेरे खिलाफ देशद्रोह का आरोप सिद्ध होता है तो कृपया तत्काल मुझ पर मुकादमा दर्ज कर मुझे कड़ी से कड़ी सजा दिलवाएं।

शिवराज सिंह ने 19 जुलाई को सतना में कहा था कि दिग्विजय सिंह पर तरस आता है. उन्हें कांग्रेस वर्किंग कमेटी से निकाल दिया गया है. हिन्दू आतंकवाद का नाम देकर उन्होंने देश का अपमान किया है, आतंकवादी के घर जाना देशद्रोही की श्रेणी में आता है. ऐसे लोग छपास रोग से ग्रस्त हैं. सीएम के इस बयान का ऐसा रिएक्शन हुआ कि दिग्विजय सिंह 26 को भोपाल आ रहे हैं. मुद्दा ये है कि ‘अगर मैं देशद्रोही हूं तो मुझे गिरफ़्तार करो.’ वो गिरफ़्तारी देने के लिए टीटी नगर थाने जाएंगे.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0