कमलनाथ सरकार का बड़ा ऐलान, किसानों के ACCOUNT में आएंगे पैसे !

कमलनाथ सरकार का बड़ा ऐलान, किसानों के ACCOUNT में आएंगे पैसे !

भोपाल :  मध्‍य प्रदेश में बाढ़ और बारिश से प्रभावितों किसानों  को अब मुआवजा मिलना शुरू होगा. कमलनाथ सरकार ने केंद्र से एक हजार करोड़ की राशि मिलने के बाट राज्य के बजट से 800 करोड़ मिलाकर 1800 करोड़ रुपए मुआवजे में देने की तैयारी कर ली है. इसके लिए राज्य सरकार ने कलेक्टरों को राशि जारी कर दी है. आपको बता दें कि एक दिन पहले केंद्र सरकार से मिली एक हजार करोड़ की मदद का हिसाब नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के द्वारा मांगे जाने के बाद कमलनाथ सरकार ने आज राहत राशि देने के लिए जारी हुए बजट की जानकारी सार्वजनिक की है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष अभय दुबे ने सरकार के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा है कि केंद्र से मिले एक हजार करोड़ और प्रदेश के बजट से जारी आठ सौ करोड़ समेत पूर्व में जारी छह सौ करोड़ की राशि मिलाकर किसानों को बर्बाद फसलों के लिए कुल 2400 करोड़ की राशि मुआवजे में दी जाएगी.

कांग्रेस ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला है. कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष अभय दुबे ने कहा है कि बीजेपी प्रदेश के किसानों के खिलाफ प्रतिशोध की भावना से प्रेरित राजनीति कर रही है. कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद एक तरफ तो आपदा के तहत मांगी गई पूरी राशि नहीं दी बल्कि किसानों को परेशान करने के लिए राज्य के कोटे का यूरिया भी रोक लिया.जारी आंकड़ों के तहत बाढ़ और बारिश से प्रभावित भिंड, झाबुआ, श्योपुर, उमरिया, अलीराजपुर, दतिया, मुरैना, बालाघाट, बड़वानी, मंडला, सिवनी, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा और कटनी के लिए राशि जारी की गई है.

जबकि जिन जिलों में तत्काल मुआवजे का वितरण होगा, उसमें खरगोन, राजगढ़, शाजापुर, विदिशा, बैतूल, भोपाल, हरदा, सीहोर, छतरपुर, देवास, टीकमगढ़, उज्जैन, गुना, रायसेन, अशोकनगर, रतलाम, दमोह, होशंगाबाद, पन्ना, खंडवा, निवाड़ी, सागर, धार और नरसिंहपुर जिला शामिल हैं. वहीं सरकार का दावा है कि आगर मालवा, मंदसौर और नीमच को पहले ही तत्काल सहायता वितरित की गई थी और अब फिर से इन्हें राहत राशि देने वाले जिलों में शामिल किया गया है. बहरहाल, लंबे समय से राहत राशि का इंतजार कर रहे किसानों को अब उनकी बर्बाद फसलों का मुआवजा मिल सकेगा.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0