कमलनाथ सरकार ने हटाए दीनदयाल उपाध्याय और आदि शंकराचार्य के अध्याय, बिधानसभा में हुआ हंगामा !

कमलनाथ सरकार ने हटाए दीनदयाल उपाध्याय और आदि शंकराचार्य के अध्याय, बिधानसभा में हुआ हंगामा !

भोपाल | मध्यप्रदेश विधानसभा में भाजपा ने कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि उसने पंडित दीनदयाल उपाध्याय और आदि शंकराचार्य के अध्याय, स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम से हटाने के आदेश दिये हैं। जिसे लेकर सियासत गरमा गई…

कमलनाथ सरकार के फैसलों से आए दिन मध्यप्रदेश में सियासत गरमा रही है..कारगिल युद्ध का पाठ हटाने के बाद खबर है कि प्रदेश सरकार ने स्कूली शिक्षा से आदि शंकराचार्य का अध्याय भी हटा दिया… विधानसभा में विपक्षी दल भाजपा ने कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाया कि उसने पंडित दीनदयाल उपाध्याय और आदि शंकराचार्य के अध्याय, प्रदेश के स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम से हटाने के आदेश दिये हैं। शून्य काल के दौरान इस मामले को सदन में उठाते हुए भाजपा विधायक विश्वास सारंग ने कहा कि प्रदेश सरकार ने भाजपा के विचारक पंडित दीनदयाल उपाध्याय और सनातन धर्म के आदि शंकराचार्य के अध्याय, स्कूली पाठ्यक्रम से हटाने के निेर्देश दिये हैं। जिसे लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि कमलनाथ सरकार में प्रयास किया जा रहा है कि हमारी संस्कृति को कैसे नष्ट किया जाए..शंकराचार्य अधिपति है और ऐसी जानकारी लोगों को न मिले तो इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ नहीं हो सकता है..
वही इस मामले में कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युमन सिंह कुछ भी कहने से बचते नजर आए और मामले को दूसरी तरफ घुमा दिया, हालांकि विधानसभा के अध्यक्ष एन पी प्रजापति ने संबंधित मंत्री को इस मामले में संज्ञान लेने के निर्देश दिये और कहा कि इन अध्यायों को पाठ्यक्रम से हटाया जाना उचित नहीं है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0