कमलनाथ के सपनों पर करारा तमाचा है अलीराजपुर का ये स्कूल !

कमलनाथ के सपनों पर करारा तमाचा है अलीराजपुर का ये स्कूल !

चंद्र शेखर आज़ाद नगर | प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलता चंद्र शेखर आज़ाद नगर का शासकीय मॉडल स्कूल जहां बिना शिक्षक के पढने को मजबूर है छात्र छात्राएं. यही नहीं सीनियर स्टूडेंट्स को अपनी पढ़ाई को छोड़ कर जूनियर को पढ़ाना पढ़ रहा है.

प्रदेश सरकार विकास के लाख दावे करे लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और बयां करती है…दरअसल प्रदेश में शिक्षा की बदहाली की ये दांस्ता आदिवासी अंचल के चंद्र शेखर आज़ाद नगर की है, जी हां वही चंद्र शेखर आज़ाद नगर जहा देश के महान फ्रीडम फाइटर शहीद चंद्र शेखर आज़ाद का जन्म हुआ था…यूं तो इस गांव का गौरवशाली इतिहास देश की आजादी के स्वर्णिम पन्नो में दर्ज है लेकीन आज यह शिक्षा की बदहाली के चलते सुर्खियों में आया है..

तस्वीरों में दिख रही ये रंगीन ईमारत जितनी बाहर से मजबूत नजर आ रही है शायद उतनी की खोखली अंदर से है, दरअसल, शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलता चंद्र शेखर आज़ाद नगर का ये शासकीय मॉडल स्कूल जहा बिना शिक्षक के पढने को मजबूर है छात्र छात्राएं….जहां करीब 700 बच्चें अपने उज्जवल भविष्य के लिए ककहरा पढ़ रहे है लेकिन 700 बच्चो पर महज 7 शिक्षक है..जिसके चलते इनके भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है..चलिए आप खुद ही सुन लीजिए इन मासूमो का दर्द….

तू सुना आपने किस कदर ये बच्चें शिक्षा की बदहाली को बयां कर रहे है…चलिए अब आप सुनिए प्राचार्य पंचमसिंग चौहान की जो दावा कर रहे है की हम मैनेज कर रहे है …हा लेकिन शिक्षकों की कमी को प्राचार्य महोदय ने भी माना

अब जरा सोचिए बेहतर शिक्षा और बच्चों के उज्जवल भविष्य के दावे करने वाली कमलनाथ सरकार के दावों की पूरी तरह हवा निकल गई…..एक और निजी स्कूलों की मनमानी फीस दूसरी और सरकारी स्कूलों का यह हाल गरीब बच्चें पढ़े तो कहा पढ़े…..और यह हॉल शहीद के नगर का है तो दूरदराज के गांवो का आप अंदाजा लगा सकते है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0