सावन के महीने पर शिव पर सियासत, मंदसौर में शुरू हुआ सियासी ड्रामा

मंदसौर। श्रावण मास शुरू होने को है और भगवान पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में सीधे मूर्ति पर जल चढ़ाने व अभिषेक करने को लेकर संघर्ष हो रहा है। एक तरफ प्रबंध समिति खड़ी है, जो कहती है कि रेलिंग में लगे जलपात्र में दिनभर जल चढ़ाओ, कोई नहीं रोकेगा। तो दूसरी तरफ नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की अगुआई में प्रात:कालीन आरती मंडल है, जिसके सदस्य चाहते हैं कि श्रावण में एक रेलिंग हटाकर श्री पशुपतिनाथ महादेव की मूर्ति का पूर्ण जलाभिषेक व अभिषेक करने का मौका दिया जाए।

जब बातचीत से रास्ता नहीं निकला तो 23 जुलाई को सुबह 10 बजे से नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार सहित आरती मंडल के सदस्य गांधी चौराहे पर 5 घंटे तक धरना देंगे।

अभिषेक को लेकर चल रही तनातनी में भाजपा नेताओं की आंतरिक गुटबाजी भी सड़क पर आ रही है। श्री पशुपतिनाथ महादेेव मंदिर समिति के अध्यक्ष कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव हैं तो उसमें विधायक यशपालसिंह सिसौदिया भी प्रभावी भूमिका में हैं।

कुछ समय पहले मूर्ति का लगातार क्षरण होने के कारण जलाभिषेक बंद किया था और एक रेलिंग लगाकर उसमें ही जलपात्र लगा दिया था। इसमें जल डालने पर वह सीधे मूर्ति के चरणों में जा रहा है। अभी तक तो यही व्यवस्था चल रही है, पर अब 28 जुलाई से श्रावण शुरू हो रहा है और प्रात:कालीन आरती मंडल द्वारा पूरे महीने में सुबह अभिषेक व अन्य कार्यक्रम किए जाते रहे हैं।

इस बार जलाभिषेक पर प्रतिबंध होने से मंडल अध्यक्ष नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार सहित सभी सदस्य काफी समय से एक माह के लिए नियम में ढील देने की बात कर रहे हैं। लगातार चर्चाओं का दौर चलने के बाद आखिरकार कलेक्टर श्रीवास्तव ने भी जलाभिषेक की अनुमति देने से इंकार कर दिया है तो अब मंडल के सदस्य भी आरपार की लड़ाई के मूड़ में आ गए।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0