इंदौर में बाढ़ जैसे हालात, आफत में जान, नंबर 1 शहर में टुटा बारिश का रिकॉर्ड !

इंदौर में बाढ़ जैसे हालात, आफत में जान, नंबर 1 शहर में टुटा बारिश का रिकॉर्ड !
Spread the love

पिछले 24 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश से इंदौर पानी-पानी हो गया है। शहर की औसत बारिश 34 इंच है। जबकि पिछले 24 घंटे में ही 11 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। अब तक इंदौर में करीब 32 इंच पानी गिर चुका है…मूसलाधार बारिश से जल जीवन अस्त व्यस्त हो गया..निचले इलाकों में बाढ़ के हालात बन गए…देखिये ये खास रिपोर्ट–

इंतजार बारिश का था लेकिन इंद्रदेव ने अति बारिश कर दी. मध्य प्रदेश के ज्यादातर इलाके अब भारी बारिश से तरबतर हैं. मौसम विभाग ने प्रदेश के अलग-अलग इलाकों के लिए रेड, यलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. इंदौर शहर और आस-पास के इलाकों में देर रात तीन बज से भारी बारिश ने 39 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। पिछले 24 घंटे से लगातार मूसलाधार बारिश से इंदौर पानी-पानी हो गया है। शहर की औसत बारिश 34 इंच है। जबकि पिछले 24 घंटे में ही 11 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। अब तक इंदौर में करीब 32 इंच पानी गिर चुका है। जोरदार बारिश से इंदौर की 50 से ज्यादा काॅलोनियां पानी-पानी हो गईं। 20 से ज्यादा निचली बस्तियों में तो कमर तक पानी भरा है। भावना नगर क्षेत्र में कार और रिक्शा जलमग्न हो गए। इसके अलावा इंदौर की लाइफ लाइन कहलाने वाला यशवंत सागर बांध भी रातभर में लबालब होने से सभी गेट खोल दिए गए हैं।

 

बारिश का सिलसिला शुकरबवार शाम 4 बजे शुरू हुआ जो लगातार जारी है। रात 8 बजे तक 4 घंटे में 3 इंच बारिश हुई। इसके बाद ऐसे बादल फटे कि सुबह साढ़े 8 बजे तक 8 इंच से ज्यादा पानी गिर गया। यह इस सीजन में अब तक की सबसे तेज बरसात है। मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को दिनभर तेज बारिश की संभावना जताई है। इंदौर के साथ जिले के सांवेर, महू, देपालपुर और गौतमपुरा में भी भारी बारिश हो रही है। रातभर से हो रही तेज बारिश से हालात बदतर हो गए। लगातार कॉलोनियों से पानी भरने की सूचना निगम कंट्रोल पहुंच रही है। डीआईजी कार्यालय में भी पानी भर गया..वही बाणगंगा क्षेत्र में हालात बद से बदत्तर हो गए। एसडीआरएफ की टीम को बोट चलना पड़ा और रेस्क्यू ऑपरेशन कर लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुचाया गया।

 

वीओ-बाणगंगा क्षेत्र के आसपास के इलाकों में अचानक पानी बढ़ने से कई लोग अपने घर मे फंस गए। क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और लोगों ने फंसे हुए लोगों को बाहर निकालने में प्रशासन की मदद की

 
हालात का जायजा लेने के लिए अलसुबह से ही कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, निगम कमिश्नर प्रतिभा पॉल और सांसद शंकर लालवानी खुद सड़कों पर उतरे..नगर निगम कंट्रोल रूम से मॉनिटरिंग की जा रही है…जहां से भी सूचना आ रही है, तत्काल निगम टीम को भेजा जा रहा है। वहीं, कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को फील्ड में रहने के निर्देश दिए हैं। जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट भी मैदान पर नजर आए ।

 

वीओ- मूसाखेड़ी क्षेत्र के वार्ड 51 में बाढ़ जैसे हालात बन गए…सड़कों ने नदियों का स्वरुप ले लिया… निचले इलाकों में कमर तक पानी भर गया..लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा…क्षेत्रीय पार्षद सहित आपदा टीम टीम राहत कार्य में जुट गई..कुल मिलाकर बारिश ने निगम और प्रशासन के दावों की पोल खोलकर रख दी..
ब्यूरो रिपोर्ट एमपी न्यूज इंदौर

 

5---MAUSAM-WEATHER

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED