प्रशासनिक अधिकारियों का कमाल, किसानों की जमीन में कर दिया गोलमाल !

प्रशासनिक अधिकारियों का कमाल, किसानों की जमीन में कर दिया गोलमाल !
Spread the love

भिंड –  अंधेर नगरी चैपट राजा टके सेर भाजी टके सेर खाजा। ये कहावत भिंड के विकासखंड भटमास पुरा गांव के 58 किसानों पर चरितार्थ हो रही है, जिनकी 200 हेक्टेयर से अधिक पुश्तैनी जमीन को भूराजस्व रिकॉर्ड  में प्रशासन के कारिंदों ने शासकीय भूमि के रूप में दर्ज कर दिया है। किसान पिछले एक साल से अधिक समय से जमीन पर अपना अधिपत्य पाने के लिए दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं। भूराजस्व अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा की गई अव्वल दर्जे की लापरवाही की वजह से किसानों को किसी भी सरकारी योजना का लाभ नही मिल पा रहा है।

हैरानी की बात तो ये है कि प्रशासनिक स्तर पर की गई इस गड़बड़ी पर पटवारी राजस्व निरीक्षक, नायाब तहसीलदार , तहसीलदार, से लेकर भू अभिलेख अधीक्षक तक ने गौर नही किया। परेशान किसान तहसील कार्यालय के चक्कर काट काट कर थक चुके हैं। लेकिन उन्हें सिवाय आश्वासन के कुछ नही मिला। मामला मीडिया में उजागर होने के बाद कलेक्टर वीरेंद्र सिंह रावत ने 7 दिन में जाँच रिपोर्ट मंगवाकर समस्या का समाधान करने और दोषियों पर कार्यवाही करने की बात कही है। कभी प्राकृतिक आपदा की मार कभी सरकारी नुमाइंदों की लापरवाही से अन्नदाता पर दोहरी मार पड़ रही है। वहीं उसको सिर्फ आश्वासन ही मिल रहे है किसी की गलती की सजा को कोई और भुगत रहा है।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED