कृषि विभाग के अधिकारी किसानों को समझाएंगे कृषि कानून के फायदे!

कृषि विभाग के अधिकारी किसानों को समझाएंगे कृषि कानून के फायदे!
Spread the love

भोपाल .  कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है। धीरे धीरे आंदोलन का दायरा पंजाब से निकलकर अन्य भाजपा शासित राज्यों में भी पहुंचने लगा है। जिसने बीजेपी की बैचेने बढ़ा दी है। मध्य प्रदेश में भी विरोध के स्वर तेज होने लगे हैं। लिहाजा नेताओं के बाद अब शिवराज सरकार ने कृषि विभाग के अधिकारियों को  किसानों को समझाने के लिए मैदान में उतार दिय़ा है। कृषि मंत्री कमल पटेल ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि अगर यह कानून लागू नहीं होगा तो किसान का भविष्य अंधकार में आ जाएगा।  कृषि मंत्री कमल पटेल ने आंदोलन कर किसान संगठनों पर बरसते हुए इसे घोर बीजेपी विरोधी, देश विरोधी औऱ किसान विरोधी बताया।

उन्होंने कांग्रेस पर भी किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए जमकर निशाना साधा।  8 दिसंबर को होने जा रहे भारत बंद के दौरान मंडियों के बंद होने की बात को नकारते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसान मंडियों को बंद नहीं होने देंगे।  भाजपा कृषि बिल को लेकर दो मोर्चे पर लड़ाई लड़ रही है। बीजेपी पर किसानों को साधने के साथ – साथ उनकी आड़ में राजनीति कर रहे विपक्षी दलों से भी निपटना है। देखना दिलचस्प होगा कि मजबूत संगठन के लिए जाने जाने वाली बीजेपी कैसे किसानों तक बिल के फायदे पहुंचाती है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED