भूमिपूजन के साथ ही पीएम मोदी ने रचा इतिहास, मंदिर को बताया आधुनिक भारत का प्रतीक!

भूमिपूजन के साथ ही पीएम मोदी ने रचा इतिहास, मंदिर को बताया आधुनिक भारत का प्रतीक!
Spread the love

अयोध्या . सैंकड़ों वर्षों से दुनियाभर में बसे रामभक्तों की मनोकामना आखिरकार आज पूरी हो गई। उत्तर प्रदेश में सरयू नदी के तट पर स्थित सनातन धर्म में अहम स्थान रखने वाली पवित्र धार्मिक नगरी अयोध्या में आज भगवान रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन संपन्न हुआ। इसी के साथ इस ऐतिहासिक शहर ने इतिहास रच दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और मंदिर की आधारशिला रखी । पीएम ने 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकंड पर शुभ मुहूर्त में राम मंदिर की नींव रखी। इससे पहले चांदी की 9 शिलाओं का पूजन किया गया।

इस दौरान उनके साथ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, गर्वनर आनंदीबेन पटेल, सरसंघचालक मोहन भागवत और महंत नृत्यगोपाल दास समेत राम मंदिर आंदोलन से जुड़े कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। मंदिर की आधारशिला रखने के बाद पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि लंबे समय तक भगवान रामलला टेंट के नीचे रहने को मजबूर हुए, मगर अब वो शीघ्र ही भव्य राम मंदिर बनेगा। पीएम ने अयोध्या में बनने जा रहे इस भव्य मंदिर को आधुनिक भारत की संस्कृति का प्रतीक भी बताया।

आपको बता दें भूमिपूजन के साथ ही पीएम मोदी ने इतिहास भी रच दिया। दरअसल नरेंद्र मोदी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री बन गए हैं, जिन्होंने बतौर प्रधानमंत्री रामलला के दर्शन किए हों। इससे पहले इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी सरीखे नेता बतौर पीएम अयोध्या का दौरा किया, लेकिन रामलला के मंदिर से दूरी बनाई रखी। पीएम मोदी ने यहां चुनाव प्रचार के दौरान आए थे, मगर उन्होंने भी उस दौरान रामलला के दर्शन नहीं किए।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED