बदनवार उपचुनाव: अपने ‘भंवर‘ में फंसी BJP, मोघे के जादू से जीतेंगे राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव!

बदनवार उपचुनाव: अपने ‘भंवर‘ में फंसी BJP, मोघे के जादू से जीतेंगे राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव!
Spread the love

बदनावर –  एमपी में 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए 22 पूर्व विधायकों को टिकट देने के बाद भाजपा के सामने अपना घर बचाने का संकट है। पार्टी नेताओं का असंतोष भी सामने आ रहा है। बदनावर में पार्टी नेताओं की नाराजगी सामने आने के बाद भाजपा नेता कृष्णमुरारी मोघे ने अपने अनुभव का जादू दिखाना शुरू कर दिया है। पार्टी ने उन्हें बदनावर का प्रभारी बनाया है, जहां उन्होंने बिसात जमाना शुरू कर दी। हाल ही में मोघे और कैलाश विजयवर्गीय ने बड़ा खेल करते हुए बागी राजेश अग्रवाल को भाजपा की सदस्यता दिला दी। जिसे लेकर पूर्व विधायक भंवर सिंह शेखावत का असंतोष सामने आया।

ऐसे में शेखावत की नाराजगी दूर करने का बीड़ा चुनाव प्रभारी कृष्णमुरारी मोघे ने उठाया। मोघे ने कहा कि उनकी इस मामले में शेखावत से चर्चा हुई है और उम्मीद है कि जल्द ही भी बदनावर में जवाबदारी संभाल लेंगे। लेकिन वर्तमान हालात में राजेश अग्रवाल के बीजेपी में वापस आने से यहां अनुकूल वातावरण बना है। मोघे ने दावा किया कि बीजेपी सौ प्रतिशत बदनावर सीट जीतेगी।

माना जा रहा है कि कांग्रेस से बालमुकुंद गौतम उम्मीदवार हो सकते हैं। बता दें कि राजेश अग्रवाल 2018 में विधानसभा चुनाव निर्दलीय लड़ लिए थे। वे 32 हजार वोट लाकर भंवरसिंह शेखावत की हार का कारण बने थे। मोघे ने योजना से सदस्यता दिलाकर उनके बागी होकर फिर से खड़े होने की संभावनाओं को खत्म कर दिया। मोघे ने कहा कि भंवर सिंह शेखावत की पीड़ा स्वाभाविक है। बता दें की राजयवर्धन सिंह दत्तीगांव की जीत के लिए मोघे ने बदनावर में डेरा डालना शुरू कर दिया है। पूरा फोकस माइक्रो मैनेजमेंट पर शुरू हो गया है।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED