चुनाव से पहले कांग्रेस को फिर याद आए अतिथि शिक्षक, किया ये बड़ा ऐलान!

चुनाव से पहले कांग्रेस को फिर याद आए अतिथि शिक्षक, किया ये बड़ा ऐलान!
Spread the love

भोपाल .  मध्य प्रदेश में 26 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सियासी घोषणाओं का दौर शुरू हो गया है। इसी क्रम में कांग्रेस ने एक बड़ा ऐलान किया है। कांग्रेस ने कहा कि वो सत्ता में आते ही सबसे पहला काम अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण का करेगी। पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि उपचुनाव के बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले कैबिनेट से अतिथि शिक्षकों के नियमित करने का प्रस्ताव पारित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अतिथि शिक्षकों से वादा करती है कि उनके साथ किसी तरह का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। बीजेपी पर हमला करते हुए पूर्व मंत्री ने बताया कि कमलनाथ सरकार ने 1200 शिक्षकों को नियमित कर दिया था, बाकी के भी किए जाने थे। मगर इस बीच बीजेपी ने पैसे के बल पर उनकी सरकार गिरा दी। बता दें कि पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन वर्मा ने इससे पहले ट्वीट करके कहा था कि अतिथि शिक्षकों को कमलनाथ जी का बड़ा वचन। पुनः सरकार बनते ही सबसे पहले शिक्षकों के नियमितीकरण का प्रस्ताव कैबिनेट से पास किया जाएगा।

वहीं एमपी कांग्रेस ने भी अतिथि शिक्षकों के एक प्रतिनिधिमंडल से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मुलाकात के साथ एक फोटो ट्वीटर पर शेयर करते हुए कहा, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने अतिथि शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाक़ात कर सरकार बनते ही कैबिनेट की पहली बैठक में अतिथि शिक्षकों को नियमित करने का वचन दिया है। आपको बता दें अतिथि शिक्षक हमेशा राज्य में विपक्षी दलों का अहम मुद्दा बनते हैं। कमलनाथ सरकार के दौरान बीजेपी ने भी उनके आंदोलन का खूब समर्थन किया था। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सड़कों पर उतरने की धमकी दे दी थी। मगर आज तक उनकी मांगे पूरी नहीं हो पाई है। ऐसे में चुनाव के करीब आते ही कुछ माह पहले सत्ता से बेदखल हुई कांग्रेस को एकबार फिर अतिथि शिक्षकों की याद आई है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED