संत,सवाल और अंत, क्या है भय्यू महाराज की मौत का ब्लैक एंड व्हाइट ?

संत,सवाल और अंत, क्या है भय्यू महाराज की मौत का ब्लैक एंड व्हाइट ?
Spread the love

 इंदौर : भय्यू महाराज की मौत को लेकर आए दिन नए खुलासे हो रहे है… फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम की रिपोर्ट सामने आई है जिसमे कहा गया है कि भय्यू महाराज ने 15 से 20 मिनट विचार करने बाद खुद को गोली मारी थी….

भय्यू जी महराज के अध्यात्म और राजनीतिक रसूख का जोड़ कितना मज़बूत था ये उस समय पता चला जब भय्यूजी ने अन्ना हजारे का उपवास तुड़वाया…भय्यू महाराज का कद और रुतबा ऐसा था कि जहाँ सरकार की नहीं सुनी जाती वहाँ बात पहुँचाने के लिए भय्यू महाराज को याद किया जाता था..

सवाल ये कि अध्यात्म की दुनिया का सबसे बड़ा नाम भय्यू महाराज जो ज़िंदगी का सार दुनिया को बताते थे वो भला खुद ज़िंदगी से क्यों हार गए..भय्यू महाराज की आत्महत्या के आठवें फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम की रिपोर्ट आई है जिसके मुताबिक कहा गया कि भय्यू महाराज ने क्षणिक आवेश यानी एकदम गुस्से में आकर आत्महत्या नहीं की..उन्होंने 15 से 20 मिनट विचार कर खुद को गोली मारी थी…

खुलासा तो ये भी हुआ कि लोगों को शांति का पाठ पढ़ाने वाले भय्यू महाराज  खुद अन्धविश्वास में घिर गए थे..और राजस्थान के चित्तौड़गढ़ के तंत्र मंत्र करने वाले बाबा का सहारा लेने लगे थे…यानि भय्यू महाराज का तनाव ऐसा था कि वे खुद के कुंडली जांचने में जुट गए..ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर भैय्यू महाराज किस पर कोनसी मुसीबत थी ?

भय्यू महाराज के सर्वोदय ट्रस्ट के बहार सन्नाटा पसरा पड़ा है..लोग एक दूसरे से पूछ रहे है…इंदौर पुलिस भी उस काले और सफ़ेद पहलु को ढूंढने में जुटी है जिसकी वजह से भय्यू महाराज को मौत का रास्ता चुनना पड़ा…

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED