भोपाल शेल्टर होम केस में खुलासा, बॉयज हॉस्टल के नाम पर सरकार दे रही थी अनुदान

Spread the love

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हुए शेल्टर होम रेप केस मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. जिस हॉस्टल में मूकबधिर युवतियों के साथ ये केस हुआ है उसका रजिस्ट्रेशन बॉयज हॉस्टल के नाम पर था और प्रदेश सरकार उसे बॉयज हॉस्टल के नाम पर ही अनुदान दे रही थी.

बताया जा रहा है कि आरोपी अश्वनी शर्मा सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से लाखों का अनुदान ले रहा था. वहीं आरोपी अश्विनी शर्मा के सीएम के साथ वाले वायरल वीडियो पर एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने क्लीनचिट दे दी है. एसपी का कहना है कि सीएम वाले वीडियो का इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है.

दूसरी ओर इस मामले को लेकर कांग्रेस मंगलवार को प्रदेश भर में आन्दोलन करेगी. कांग्रेस सामाजिक न्याय मंत्री गोपाल भार्गव के इस्तीफे की मांग कर रही है. कांग्रेस ने इस मामले में सीबीआई जांच कराए जाने की भी मांग की है.

इससे पहले इस मामले में पांचवीं छात्रा ने हॉस्टल संचालक अश्वनी शर्मा पर दरिंदगी का आरोप लगाया है. छात्रा ने आरोपी पर आर्थिक अनियमितता करने का भी आरोप लगाया है. पीड़िता आरोपी पर केस दर्ज करा सकती है.

गौरतलब है कि भोपाल में हुए इस कांड का ख़ुलासा पिछले गुरुवार को हुआ. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना पर अफसोस जताते हुए शुक्रवार सुबह मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक की थी. उन्‍होंने अफसरों को सख़्त निर्देश दिए थे कि आरोपियों को सज़ा दिलाने के लिए ज़रूरी कानूनी कार्रवाई समय पर हो.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED