आपातकाल की बरसी पर CM शिवराज को याद आए यातनाएं वाले दिन!

आपातकाल की बरसी पर CM शिवराज को याद आए यातनाएं वाले दिन!
Spread the love

भोपाल –  25 जून को बीजेपी हर साल काला दिवस के रूप में मनाती है। दरअसल इसी दिन साल 1975 में तत्कालीन इंदिरा सरकार ने देश में आपातकाल लगाया था। बीजेपी इसको लेकर लगातार कांग्रेस पर हमलावर रही है और उसे लोकतंत्र का हत्यारा बताती रही है। गुरूवार को मध्य प्रदेश में भोपाल स्थित प्रदेश भाजपा कार्यालय में पार्टी की तरफ से एक प्रदर्शनी लगाई गई है। जिसका शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया। इस प्रदर्शनी में के जरिए दर्शाया गया है कि आपातकाल के दौरान किस तरीके से लोकतंत्र पर हमला किया गया था।

इस दौरान सीएम शिवराज ने कांग्रेस पर  निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में बने रहने के लिए लोकतंत्र को कुचला था और संविधान की जमकर धज्जियां उड़ाई  थी। शिवराज ने उस दौरान दी जाने वाली यातनाओं को याद करते हुए कहा कि आजाद भारत में किसी ने ऐसी यातनाओं की कल्पना नहीं की होगी। कई राजनीतिक कार्यकर्ता इस दौरान असहनीय यातना से मारे गए।

चुन – चुन कर विपक्षी नेताओं को पकड़कर जेल में डाल दिया गया। शिवराज ने स्वय़ं का उदाहरण देते हुए कहा कि मात्र 16 – 17 साल की उम्र उन जैसे कई कार्यकर्ताओं को जेल में डाल दिया गया।  इससे पहले चौहान ने ट्वीट करते हुए आपातकाल के दिनों को याद करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा था। शिवराज ने ट्वीट करते हुए लिखा, 1975 में आज के ही दिन आपातकाल लागू हुआ था। उस काले दिन पर कवि नागार्जुन की कुछ पंक्तियां साझा कर रहा हूं- छात्रों के लहू का चस्का लगा आपको, किसी ने टोका तो ठस्का लगा आपको, फूल से भी हल्का, समझ लिया आपने हत्या के पाप को, इन्दु जी, इन्दु जी, क्या हुआ आपको !”

आपको बता दें आपातकाल के दौरान तमाम विपक्षी नेताओं को जेल में डाल दिया गया था और प्रेस को भी सेंसर कर दिया गया था। आज सुबह से ही पीएम मोदी और अमित शाह समेत तमाम भाजपा के कद्दावर नेता कांग्रेस पर हमलावर हैं। वहीं कांग्रेस अक्सर इस मुद्दे पर बैकफुट पर रही है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED