कांग्रेस की अधूरी यात्राओं से पार्टी में संशय, पढिये पूरी खबर

कांग्रेस की अधूरी यात्राओं से पार्टी में संशय, पढिये पूरी खबर
Spread the love

भोपाल। राजनीतिक लाभ के लिए कांग्रेस के  नेताओं द्वारा पिछले 6 साल में प्रदेश में निकाली गई एक भी यात्रा पूरी नहीं हो सकी। हर यात्रा बीच में ही अधूरी रह जाती है। मई 2012 से लेकर अब तक कांग्रेस नेताओं ने चार यात्राएं पार्टी के बैनर तले निकाली, लेकिन इनमें से कोई भी यात्रा न तो तय मुकाम तक पहुंची, न ही यात्रा पूरी हो सकी। इन यात्रों के अधूरे परिणाम देख कर प्रदेश में इस महीने शुरू हो रही तीन अलग-अलग यात्राओं से किसान कांग्रेस और पिछड़ा विभाग द्वारा निकाली जाने वाली यात्राओं को लेकर पार्टी में संशय की स्थिति है।

भूरिया के नेतृत्व में ये यात्राएं अधूरी :वर्ष 2012 में मई में ही कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने ओरछा से जनचेतना यात्रा शुरू की थी। लेकिन यात्रा एक चरण ही पूरा कर सकी और इसके बाद स्थगित हो गई। इस यात्रा का दूसरा चरण शुरू ही नहीं हो सका था। इसके बाद वर्ष 2013 जून से परिवर्तन यात्रा शुरू हुई। ये यात्रा भी सिर्फ आधा दर्जन संभागों में ही पहुंच सकी।

अब दिग्विजय निकलेंगे यात्रा पर
प्रदेश में चार यात्राओं के बीच में छुटने के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह प्रदेश की यात्रा पर निकल रहे हैं। उनकी यात्रा सभी जिलों में जाएगी। वहीं किसान कांग्रेस कलश यात्रा और ओबीसी विभाग भी एक मई से यात्रा निकालने वाला था, लेकिन पीसीसी के भंग होते ही रुकावट आ गई।

अब नई यात्राओं के सूत्रधार होंगे पचौरी
प्रदेश कांग्रेस की लगातार विफल हो रही यात्राओं के मद्देनजर नव नियुक्त अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने भरोसेमंद साथी पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी को आगामी विधानसभा चुनाव तक यात्राओं का रोडमैप तैयार करने का जिम्मा सौंपा है। सूत्रों ने बताया कि सुरेश पचौरी आगामी चुनाव से पहले महाकोशल, बुंदेलखंड, मालवांचल और विंध्य में कार्यकारी अध्यक्षों के साथ इसे लेकर समन्वय बनाएंगे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED