कोरोना ने विदिशा में तोड़ दी 200 साल पुरानी ऐतिहासिक परंपरा !

कोरोना ने विदिशा में तोड़ दी 200 साल पुरानी ऐतिहासिक परंपरा !
Spread the love

विदिशा –  विदिशा के मनोरा में भगवान् जगदीश की रथ यात्रा इसबार नहीं निकलेगी। कोरोना संक्रमण की वजह से 200 साल पुरानी ये ऐतिहासिक परम्परा पहली बार टूटेगी। दरअसल विदिशा जिले के ग्यारसपुर तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम मनोरा में भगवान जगदीश स्वामी की भव्य और ऐतिहासिक रथ यात्रा का आयोजन हर साल किया जाता है । मान्यता है कि उड़ीसा के पुरी जगन्नाथ में जिस दिन रथयात्रा निकलती है उसी दिन यहां रथ यात्रा निकाली जाती है ।

खास बात यह है कि पूरी में कुछ समय के लिए अचानक रथ के पहिए थम जाते हैं और उसी समय जगदीश धाम मानोरा में रथ अपने आप चलने लगता है । इसी परंपरा का निर्वहन पिछले 200 सालों से किया जाता रहा है। कोरोना की वजह से सरकार ने फैसला किया हैं कि इसबार यात्रा नहीं निकलेगी जिससे कही न कही भक्तों में निराशा हैं। हर साल जगदीश धाम मानोरा में पांच लाख से ज्यादा श्रद्धालु महज 3 दिन के दौरान यहां आते हैं खास बात यह है कि इसमें आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश और देश के अलग-अलग हिस्सों से बड़ी संख्या में लोग भगवान कृष्ण बलभद्र और बहन सुभद्रा के दर्शन करने यहां आते हैं।

वर्तमान समय में मंदिर में दर्शन करने वालों के लिए तमाम नियमों का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। मास्क ना पहनने वालों को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जा रहा। 2 गज की दूरी बनाए रखने के साथ मंदिर में प्रसाद चढ़ाना, शंख, झालर, घंटी बजाना प्रतिबंधित है । यहां सभी घंटियों पर कपड़े लपेट दिए गए हैं भाई श्रद्धालुओं मैं रथ यात्रा निकालने पर काफी निराशा है।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED