दिग्गी के महल में सिंधिया का लंच- ख़बर ये भी है

दिग्गी के महल में सिंधिया का लंच-  ख़बर ये भी है
Spread the love

भोपाल : पिछले 15 सालों से सत्ता से दूर कांग्रेस इस बार विधानसभा चुनाव में सरकार बनाने की आस लगाए हुए है. यही वजह है कि कांग्रेस के नेता आपसी तल्खियां भूलकर एकजुटता का संदेश दे रहे है. ऐसा ही कुछ नजारा इन दिनों दिग्गी और सिंधिया घरानों के बीच देखने को मिल रहा है. दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजिय सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को लंच पर बुलाया है. जिसे सिंधिया ने स्वीकार कर लिया और वे राघौगढ़ किले में लंच करेंगे.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच तल्खियां किसी से छुपी नहीं है. लेकिन चुनावी साल में सिंधिया का राघौगढ़ लंच पर जाना साबित करता है कि सिंधिया के बारे में जो बातें कही जाती थीं वो गलत हैं. दिग्विजय सिंह इस समय यूरोप में है और जयवर्धन ने सिंधिया को लंच पर आमंत्रित किया है.

दिग्गी के महल में सिंधिया का लंच अब प्रदेश के सियासी गलियारों में चर्चाओं का विषय बन चूका है. जयवर्धन का नाम युवा कांग्रेस के अध्यक्ष के तौर पर भी देखा जा रहा है. ये भी कयास लगाए जा रहे हैं कि जयवर्धन को पार्टी में प्रदेश महासचिव जैसा भी कोई पद मिलने की संभावनाएं हैं. ऐसे में हाईकमान के सामने सिंधिया के समर्थन की जरुरत जयवर्धन सिंह को होगी. हालांकि औपचारिक तौर पर इस लंच को सिर्फ एकता का संदेश कहा जा रहा है.

महलों में राजा महाराजाओं की पार्टी – प्रभात झा

वहीं इसे लेकर प्रभात झा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधा है. प्रभात झा का कहना है कि छोटे महलपति ने बड़े महलपति को लंच पर बुलाया है. ये अमीरों की पार्टी है अमीरों के किलों और महलों में लंच होते हैं. हैरानी तब होती जब किसी गरीब को खाने पर बुलाया जाता. झा ने कहा कि पहले सिंधिया को 3 बार सलामी दी जाएगी फिर लंच होगा. सिंधिया को किसी भी लंच का स्वाद नहीं आता उन्हें सिर्फ वोट दिखते हैं. ये वोट की राजनीति है, कुर्सी बचाने की कोशिश में सिंधिया ने लंच पर जाना स्वीकार किया है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED