भाजपा के खिलाफ अगुवाई कर कंप्यूटर बाबा की पोल खोलेंगे दिग्गी, जानिये

भाजपा के खिलाफ अगुवाई कर कंप्यूटर बाबा की पोल खोलेंगे दिग्गी, जानिये
Spread the love

भोपाल : नर्मदा घोटाला यात्रा निकालने वाले बाबाओं को मंत्री बनाकर शिवराज सरकार ने भले ही बचने का प्रयास किया हो, लेकिन नर्मदा यात्रा करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह प्रदेश सरकार की मुश्किलें बढ़ा सकते है. नर्मदा परिक्रमा यात्रा के बाद एक बार फिर दिग्गी सियासी मैदान में उतरने को तैयार है. माना जा रहा है कि दिग्गी कोई बड़ा खुलासा कर सकते है. साथ ही वे राज्यमंत्री बने कंप्यूटर बाबा की भी पोल खोल सकते है.

दिग्विजय पहले ही कह चुके है कि- ‘मैं राजनेता हूं, नर्मदा परिक्रमा पूरी होने के बाद पकौड़े नहीं बेचूंगा. दिग्विजय सिंह अपनी इस पदयात्रा के दौरान मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से 110 सीटों का दौरा कर चुके है. दिग्गी ने नर्मदा नदी में हो रहे अवैध रेत खनन एवं अन्य गलत कार्यों की कथित रूप से वीडियो और फोटोग्राफी की है. सूत्रों की माने तो भाजपा सरकार में शासनकाल में हुए भ्रष्टाचार से संबंधित सबूत बड़ी तादात में इकट्ठा किए हैं. यात्रा समाप्त करने के बाद सिंह निश्चित तौर पर मध्य प्रदेश में चल रहे बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार की पोल खोलेंगे.

गौरतलब है कि सीएम शिवराज ने नर्मदा घोटाले को उजाकर करने वाले कंप्यूटर बाबा को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है जिसके बाद उन्होंने नर्मदा घोटाला घोटाला यात्रा स्थगित कर दी. जिसपर दिग्गी ने निशाना साधते हुए संकेत दिया था कि वे खुद नर्मदा नदी से जुड़ा बड़ा घोटाला उजागर करेंगे.

भाजपा के खिलाफ अगुवाई को तैयार-
वही 6 महीने तक राजनीति से दूर रहे दिग्गी ने विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा की मिशन 2018 में यदि पार्टी हाई कमान उनसे एमपी में सरकार के खिलाफ अगुवाई के लिए कहेगा, तो वो तैयार हैं. वे फेविकोल की तरह पार्टी को जोड़े रखने का काम करेंगे. हालांकि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने से इनकार किया है.

उमा भारती ने मांगा दिग्विजय से मिलने का समय
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा संपन्न् होने पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पत्र लिखकर इस धार्मिक यात्रा से अर्जित हुए पुण्य में से एक हिस्सा उनसे मांग लिया है. उमा ने इस संबंध में अपनी व्यस्तता का हवाला देते हुए दिग्विजय से 10 अप्रैल के बाद भेंट करने का समय मांगा है और दिग्विजय दंपति को गंगाजल भेंट करने की इच्छा भी जताई है.

30412343_1997257223627333_7276229569328185344_n

उन्होंने कहा, मेरी अभिलाषा है कि नर्मदा परिक्रमा के समापन पर आयोजित भंडारे में शामिल होऊं लेकिन चंपारण (बिहार) में उनके मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री भी आ रहे हैं इसलिए वह परिक्रमा समापन पर नहीं पहुंच पा रही हैं.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED