MP में तबादला नीति से कमजोर हुई शिक्षा व्यवस्था, स्कूलों में नही खुली किताबें !

MP में तबादला नीति से कमजोर हुई शिक्षा व्यवस्था, स्कूलों में नही खुली किताबें !
Spread the love

खातेगांवः मध्यप्रदेश में शिक्षा का स्तर का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि जब देवास जिले के खातेगांव में क्षेत्रीय विधायक ने सरकारी स्कूल का दौरा किया तो पता चला की बच्चों की किताबें तो अभी तक खुलेगी नहीं है परीक्षा सर पर है लेकिन अभी तक स्कूल में शिक्षक तक नहीं है। मध्यप्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस ने वक्त है बदलाव का नारा दिया था लेकिन शिक्षा के क्षेत्र में कोई बदलाव नहीं देखने को मिला । हालात जस के तस है । आलम यह है की सरकारी स्कूलों में बच्चों की किताबें तक नहीं खुली। यह हकीकत उस समय सामने आई जब देवास जिले के खातेगांव विधानसभा से भाजपा विधायक आशीष शर्मा सरकारी स्कूलों की हकीकत जानने के लिए स्कूल में पहुंचे।

विधायक शर्मा जब खातेगांव के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय विक्रमपुर में पहुंचे तो बच्चो ने विधायक से अपनी पीड़ा बयां की। साथ ही बताया कि हमारा भविष्य अंधकारमय है। कक्षा 9वी से 12वी तक लगभग 300 बच्चे दर्ज है, जहाँ फिजिक्स, बायो, व गणित के शिक्षक नही होने से 5महीने बाद भी बच्चों की पुस्तक नही खुली है। सरकार जब सत्ता पर आई तो प्रदेश में जमकर शिक्षकों का ट्रांसफर किया गया, आलम यह था कि ट्रांसफर तो कर दिया गया लेकिन उन जगहों पर शिक्षकों की भर्ती नहीं हुई, जिसका खामियाजा बच्चों को भुगतना पड रहा। विधायक आशीष शर्मा ने सरकार की तबादला नीति पर सवाल उठाए। वही अपने दौरे के दौरान विधायक आशीष शर्मा ने स्कूल में बच्चों को फर्श पर बैठे हुए देखा तो तुरंत फर्नीचर के लिए 1 लाख की राशि देने की घोषणा की ।कुल मिलाकर अब देखना होगा कि सरकार सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को पहुंचाएगी या फिर बच्चों का भविष्य अंधकार में डूबता रहेगा ।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED