महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार, नींद में शिवसेना- NCP तार-तार !

महाराष्ट्र में फडणवीस सरकार, नींद में शिवसेना- NCP तार-तार !
Spread the love

भोपालः महाराष्ट्र में भारतीय राजनीति का सबसे बड़ा उलटफेर हुआ है. कल रात जहां यह खबर थी कि उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनेंगे वहीं सुबह होते ही राजनीति का पासा बीजेपी ने पलट दिया. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शनिवार की सुबह देवेंद्र फडणवीस को सीएम पद की शपथ दिलाई. वहीं अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली. राजनीति में सब कुछ मुमकिन है. कोई दोस्त या दुश्मन नहीं होता. कौन कब किसके साथ आ जाए, कहा नहीं जा सकता. शनिवार सुबह कुछ ऐसा ही देखने को मिला. 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित किए गए।

बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीट मिलीं. महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए 145 विधायकों की जरूरत होती है. बीजेपी और शिवसेना के पास फिर से सरकार बनाने लायक आंकड़े थे. लेकिन महाराष्ट्र की राजनीती का जैसे ही पासा पलटा मध्यप्रदेश में जश्न शुरू हो गया। शिवसेना ने बीजेपी के सामने ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री पद बांटने की शर्त रख दी. बीजेपी तैयार नहीं हुई और शिवसेना दूसरी पार्टियों के साथ सरकार बनाने के विकल्प तलाशने में जुट गई. हालांकि, शुरुआत में एनसीपी और कांग्रेस की ओर से यही कहा गया कि शिवसेना और बीजेपी ही मिलकर सरकार बनाएं क्योंकि उनके पास आंकड़े हैं. मगर दोनों पार्टियां जिद पर अड़ी रहीं. दिन बीतते गए. शुक्रवार को वर्ली में नेहरू सेंटर में राज्य में सरकार बनाने की कवायद तेज हुई।

एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस के बीच बैठक हुई, जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नाम की सहमति बनी. एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने खुद इसकी घोषणा की. लेकिन शनिवार सुबह देवेंद्र फडणवीस ने फिर एक बार राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. वहीं एनसीपी नेता अजित पवार डिप्टी सीएम बने. वही इसे लेकर एमपी में घमासान है। मंत्री पीसी शर्मा का कहना है की कमलनाथ मजबूत थे अन्यथा एमपी में भी वही होता ।  कुल मिलाकर  जिसने यह खबर सुनी, उसे शुरुआत में यकीन नहीं हुआ और फिर हैरान होने के अलावा कोई चारा नहीं बचा. लेकिन सबसे बड़ा झटका शिवसेना को लगा है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED