पेटलावद ब्लास्ट की चौथी बरसी, सत्ता बदली लेकिन पीड़ितों को दिए वादे आज भी अधूरे !

पेटलावद ब्लास्ट की चौथी बरसी, सत्ता बदली लेकिन पीड़ितों को दिए वादे आज भी अधूरे !
Spread the love

पेटलावद:- मध्यप्रदेश के इतिहास की सबसे दर्दनाक और दिल दहला देने वाले पेटलावद ब्लास्ट की चौथी बरसी है. इस हादसे में 78 लोगों की मौत हुई थी.और कई सैंकड़ो लोग घायल हुए थे. पेटलावद में ब्लास्ट में मारे गए लोग को श्रद्धांजलि दी गई.इस दौरान पेटलावद के रहवासियों के साथ कई सामाजिक सघठनो ने श्रद्धांजलि चौक पर मोमबत्ती और फुल माला चढ़ा कर ब्लास्ट में मारे गए लोगो को नमन किया.

गौरतलब है कि आज के दिन 2015 की सुबह करीब साढ़े आठ बजे सब कुछ सामान्य था, लेकिन एक पल में पेटलावद में मौत का सन्नाटा पसर गया था. राजेंद्र कासवा नामक व्यापारी के गोदाम में अवैध तरीके से रखी जिलेटिन की राॅड में हुए ब्लास्ट से 78 लोगों की मौत हो गई थी. जबकि सैकड़ों इस हादसे में घायल हुए थे.इस ब्लास्ट को चार साल होने आए हैं लेकिन उस दिल दहला देने वाले हादसे की जब भी बात निकलती है तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं.इन चार सालो में बहुत कुछ बदल गया. यहाँ तक की प्रदेश सत्ता भी.आपको जानकर हैरान होगी कि हादसे से पीड़ित लोगो से नेताओं ने कुछ वायदे किये तो आज तक पुरे नहीं हुए.

वहीँ कुछ संस्था पेटलावद को हरा भरा करने के लिए पूरी तरह तत्पर है इसके लिए यहां के युवा इस दिन को काले दिन के तौर पर नही बल्कि पर्यावरण संरक्षण के लिये याद रखना चाहते है. इसीलिए ग्रीन पेटलावद नामक ग्रुप के युवा वृक्षारोपण करेगी.

कुल मिलाकर पेटलावद ब्लास्ट में काल ग्रास बने लोगो को श्रद्धांजलि चैक पर नमन किया गया भले ही हादसे को चार साल बीत गए हो लेकिन पीड़ितों की आर्थिक मदद का दिलासा देने वाले स्थानीय नेता और सरकार आज भी मौन है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED