एमपी के इस कस्बे ने पेश की अनोखी मिसाल, यहां अनूठे तरीके से होता है कचरा प्रबंधन

एमपी के इस कस्बे ने पेश की अनोखी मिसाल, यहां अनूठे तरीके से होता है कचरा प्रबंधन
Spread the love

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश में सफाई को लेकर कई जगहों पर सराहनीय प्रयोग किए जा रहे है. एक तरफ स्वच्छता में नंबर 1 इंदौर में जहां कचरे से बायो गैस और जैविक खाद बनाने का काम हो रहा है. वही प्रदेश का नागदा कूड़े के पहाड़ को हटाकर जैव विविधता पार्क बनाकर सुर्ख़ियों में आ गया है. नागदा में अनूठे तरीके से कचरा प्रबंधन किया जाता है. नागदा नगर पालिका ने अपने कूड़े के पहाड़ को खूबसूरत वेटलैंड में बदल कर जैव विविधता की नई तस्वीर खीच दी है.

नगर परिषद नागदा ने 40 हजार वर्ग फीट में फैले कूड़े के ढेर को हटाकर जैव विविधता पार्क में बनाकर देश के सामने अनोखी मिसाल पेश की है. यहां घरों से या पब्लिक प्लेस से निकलने वाले कचरे का इस्तेमाल न सिर्फ शहर को खूबसूरत बनाने में इस्तेमाल हो रहा है बल्कि इससे बड़ी संख्या में लोगों का रोजगार भी जुड़ा है.

आलम यह है कि नागदा कस्बे में कहीं पर भी कूड़ा नजर नहीं आता. इसका इस्तेमाल खाद और लिक्विड का इस्तेमाल सिंचाई के काम आता है. इंदौर से नागदा की दूरी तक़रीबन 50 किलोमीटर पर है. जो अपने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए सुर्ख़ियों में है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED