अपनी ही सरकार के खिलाफ हीरा ने भरी हुंकार, कमलनाथ के फैसले पर तकरार!

अपनी ही सरकार के खिलाफ हीरा ने भरी हुंकार, कमलनाथ के फैसले पर तकरार!
Spread the love

भोपाल- कांग्रेस विधायक एवं जयस नेता हीरा लाल अलावा ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी के फैसले का विरोध किया. अलावा ने कमलनाथ सरकार के आदिवासी इलाकों में निजी कंपनियों को खदान दिए जाने का विरोध किया है.

प्रदेश में आदिवासी टपके की नुमाइंदगी करने वाले जयस नेता एवं कांग्रेस विधायक डॉ. हीरालाल अलावा ने एक बार फिर अपनी ही सरकार के फैसले पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया है या फिर यूं कहे कि एक बार फिर अपनी ही पार्टी के फैसले का विरोध किया. अलावा ने कमलनाथ सरकार के आदिवासी इलाकों में निजी कंपनियों को खदान दिए जाने पर विरोध व्यक्त किया. उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से विरोध जताया है.

अलावा का कहना है कि आदिवासी क्षेत्रों में संसाधनों पर पहला हक आदिवासियों का है, अगर ऐसा होगा तो आदिवासी और उनके इलाके के साथ ठीक नहीं होगा. अलावा ने अपने बयान में सुप्रीमकोर्ट के फैसले का हवाला भी दिया है.

वहीं इस मामले पर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा एवं राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल ने कहा है कि सरकार जनहितों को ध्यान में रखते हुए ही फैसला लेती है. लेकिन हर व्यक्ति को अपने विचार रखने का अधिकार है.

खबर है कि प्रदेश में आय बढ़ाने के लिए कमलनाथ सरकार झाबुआ जिले की रॉक फास्फेट खदान को निजी हाथो मे देने की तैयारी कर रही है. हालांकि इसको लेकर सरकार की तरफ से कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है. आपको बता दे कि अलावा पहले भी सरकार के कई फैसलों का खुलकर विरोध कर चुके है ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि कमलनाथ सरकार इस फैसले में क्या कोई बदलाव करती है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED