नेताओं के नाम आ रहे है तो उन्हें सार्वजानिक करें -नरोत्तम मिश्रा

नेताओं के नाम आ रहे है तो उन्हें सार्वजानिक करें -नरोत्तम मिश्रा
Spread the love

भोपाल | ई-टेडरिंग घोटाले में ईओडब्ल्यू द्वारा एफआईआर किये जाने के बाद तत्कालीन मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान सामने आ आया है .. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है की अगर राजनेताओ के नाम आ रहे है तो उन्हें सार्वजानिक करें ..यह मात्र बदले की भावना से की गई कार्रवाई है …खिसियानी बिल्ली खम्बा नोचे वाली स्थिति कांग्रेस के सामने निर्मित हो गए है.
दरअसल ,घोटाले पर मची सियासी घमासान के बाद अब तत्कालीन जल संसाधन मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान आया है. उनका कहना है ये केवल बदले और दवाब की राजनीति है. प्रदेश में हाल ही में पड़े आयकर के छापे में जो कुछ हुआ वो सबके सामने है. आयकर छापों के बदले में ई टेंडर मामला उछाला जा रहा है. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है की अगर राजनेताओ के नाम आ रहे है तो उन्हें सार्वजानिक करें ….

उन्होंने कहा कमलनाथ सरकार सबसे पहले घोटाले शब्द की व्याख्या करे. यहां जब पैसे का कोई लेनदेने ही नहीं हुआ तो घोटाला किस बात का….वही मिश्रा ने कहा कि अधिकारी दबाव में आकर काम न करें और अगर कुछ है तो 4 महीने से दबाकर क्यों बैठे हैं. जो भी बात है साफ कहें,सामने आकर कहें.

आप को बता दे की ई- टेंडर घोटाले में ईओडब्ल्यू ने 5 विभागों में अज्ञात नेताओं और अफसरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. जिन विभागों में करीब 2972 करोड़ के ई-टेंडर घोटाले में एफआईआर हुई है, उनमें पीएचई, पीडब्ल्यूडी और जलसंसाधन विभाग भी शामिल हैं तो वही पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा उल्टा कांग्रेस पर पलटवार करते हुए इसे खिसियानी बिल्ली खबा नोचे वाली स्तिथि करार दिया है बहरहाल आगामी दिनों में इस मामले को लेकर कई सियासी उठापठक देखने को मिल सकती है ..

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED