शाजापुर में दूल्हे राजा ने बाबा साहब की तस्वीर के सामने रचाई शादी, दुल्हन ने कह दी दिल की बात !

शाजापुर में दूल्हे राजा ने बाबा साहब की तस्वीर के सामने रचाई शादी, दुल्हन ने कह दी दिल की बात !
Spread the love

शाजापुर – मालवा क्षेत्र के इतिहास में पहली बार शाजापुर जिले में बौद्ध धर्म के रीति रिवाज से हुई शादी। शादी में ना तो मंत्र उच्चारण, ना फेरे हुए, कम समय वाली इस अनूठी शादी की प्रदेश में चर्चा हो रही है। बदलते दौरे में अब शादी करने का तरीका भी बदलने लगा है। लोग अलग अलग तरीके से शादी करके अपने समाज को जागरूक कर रहे है।

शाजापुर में भी एक नव दंपत्ति ने संविधान निर्माता बाबा साहेब आंबेडकर की तस्वीरों के  सामने बौद्ध परम्परा से शादी की और एक दूसरे के साथ जीवन बीतने का फैसला लिया। बौध्द परंपरा में कन्यादान नहीं होता क्योंकि कन्या कोई वस्तु नहीं होती बल्कि उसे जीवन संगनी और जिम्मेदारी माना जाता है। इसमें कन्या व उनके माता-पिता द्वारा समर्पण किया जाता है और वर व उनके माता-पिता द्वारा अनुमोदन किया जाता है।

जिससे आपस में परिवार एक दूसरे से आदर सम्मान की भावना से मजबूती से रिश्ते को निभाते है। ये शादी करके दूल्हा और दुल्हन ने खुशी जताई।  इस शादी में वर वधु दोनों को 5, 5 प्रतिज्ञाएं ग्रहण कराई जाती है। जिसमें पति पत्नी आपस में सदा  एक दूसरे का सम्मान रखेंगे, परिवार का सम्मान रखेंगे। मिथ्या आचरण नहीं करेंगे और दोनों ही आजीविका द्वारा घर को धन धान संपन्न बनाएंगे।

 

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED