इंदौर में बिगड़ी एमरजेंसी सेवा, एम्बुलेंस 108 के 80 कर्मचारी सस्पेंड

इंदौर में बिगड़ी एमरजेंसी सेवा,  एम्बुलेंस 108 के  80 कर्मचारी सस्पेंड
Spread the love

इंदौर : मध्यप्रदेश में इमरजेंसी सेवा संचालित करने वाली कंपनी जिगित्सा ने प्रदेश में 108 इमरजेंसी सेवा के 3500 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है. कंपनी के ड्राइवर और पैरामेडिकल स्टाफ ने 8 घंटे से ज्यादा काम करने से मना कर दिया, जबकि कंपनी इनसे 12 घंटे से ज्यादा काम काम कराती थी. इसके बाद से प्रदेशभर में 108 इमरजेंसी सेवा लगभग ठप हो गई हैं.

वही इंदौर में 108 इमरजेंसी सेवा के 80 से ज्यादा कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया गया है. जिससे शहर में 108 सेवा के पहिए पूरी तरह से थम गए हैं. एम्बुलेंस सुविधा नहीं मिलने के कारण मरीजों को अस्पताल ले जाने में लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है.

हालांकि कुछ जगह अप्रशिक्षित स्टॉफ से काम चलाया जा रहा है. इंदौर के बर्खास्त कर्मचारियों ने लेबर कमिश्नर से मिलकर सेवा बहाली की मांग की है. इमरजेंसी सेवा ठप होने से प्रदेशभर में स्थिति बिगड़ती जा रही है.

एंबुलेंस में काम करने के लिए कर्मचारियों की कम से कम तीन महीने की ट्रेनिंग होती है. ऐसे में ये सेवा जल्द बहाल होती दिखाई नहीं दे रही है. वहीं मानव अधिकार आयोग ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को नोटिस देकर इमरजेंसी सेवा बहाल करने के निर्देश दिए हैं.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED