SUCCESS STORY – इंदौर ने लगाई हैट्रिक, जानिए कैसे लगातार तीसरी बार बना नंबर 1 बना इंदौर ?

SUCCESS STORY – इंदौर ने लगाई हैट्रिक, जानिए कैसे लगातार तीसरी बार बना नंबर 1 बना इंदौर ?
Spread the love

इंदौर – आपने अब तक कई सक्सेस स्टोरी पढ़ी होंगी. कोई परीक्षा में अव्वल आया तो किसी ने बिजनेस में ऊंचा मुकाम हासिल किया. परिस्थितियों को मात देकर दुनिया में परचम लहराने की कई मिसालें देखने को मिलती हैं, लेकिन एमपी न्यूज आज आपको एक शहर की सक्सेस स्टोरी बताने जा रहा है, जिसने स्वछता की हैट्रिक लगाई…जी हाँ इंदौर लगातार तीसरी बार देश का सबसे साफ शहर बन गया.
स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहरों की घोषणा दिल्ली में हुई….राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यह पुरस्कार महापौर मालिनी गौड़ को दिया।
समारोह के लिए महापौर मालिनी गौड़, निगमायुक्त आशीष सिंह, नेता प्रतिपक्ष फौजिया शेख अलीम, कंसल्टेंट असद वारसी दिल्ली पहुंचे।

देश का पहला ऐसा शहर, जिसने ट्रेंचिंग ग्राउंड को पूरी तरह खत्म कर वहां नए प्रयोग शुरू कर दिए हैं। 100 प्रतिशत कचरे की प्रोसेसिंग और बिल्डिंग मटेरियल और व्यर्थ निर्माण सामग्री का कलेक्शन और निपटान। कचरा गाड़ियों की मॉनिटरिंग के लिए जीपीएस, कंट्रोल रूम और 19 जोन की अलग-अलग 19 स्क्रीन। 29 हजार से ज्यादा घरों में गीले कचरे से होम कम्पोस्टिंग का काम। देश के पहले डिस्पोजल फ्री मार्केट। इसमें हाल ही में 56 दुकान को शामिल किया है। पहला शहर, जहां लाखों लोगों की मौजूदगी के दो जीरो वेस्ट इवेंट हुए। मई 2018 में जब सर्वे की घोषणा हुई तो इंदौर दूसरी बार नंबर-1 बना, वहीं भोपाल दूसरे और चंडीगढ़ तीसरे स्थान पर रहा। 2019 में सूरत भी दौड़ था। हालांकि जो काम इन शहरों में अब तक नहीं हुए हैं, वे काम इंदौर पिछले साल ही पूरे कर चुका है।
इंदौर ने शहर की सुंदरता बढ़ाने पर काम किया… डोर-टू-डाेर कलेक्शन प्रभावी रहा..होम कम्पोस्टिंग जैसे कोई बड़े काम करके इंदौर ने सफलता का परचम लहराया….

कुल मिलाकर इंदौर ने न सिर्फ स्वच्छता को त्यौहार की तरह मनाया बल्कि शहर के लोगों की आदत में सफाई एक आदत की तरह बस गई है..यही वजह है की इंदौर नगर निगम की टीम और शहर की जनता की बदौलत शहर ने स्वच्छता की हैट्रिक लगाई..

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED