भोपाल में ज्योतिरादित्य सिंधिया का DOUBLE DOSE, DINNER से लेकर BREAKFAST तक खूब हुई सियासत!

भोपाल में ज्योतिरादित्य सिंधिया का DOUBLE DOSE, DINNER से लेकर BREAKFAST तक खूब हुई सियासत!
Spread the love

भोपाल : मध्यप्रदेश के सियासी गलियारों में अचानक से गर्माहट महसूस होने लगी है..लम्बे वक्त से प्रदेश की सियासत से दूर कांग्रेस के फायरब्रांड नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की डिनर डिप्लोमेसी से एकबार फिर अटकलों का बाजार गर्म है..सोनिया से गुफ्तगू की बाद कमलनाथ के मंत्रियों के साथ रात में डिनर और दिन में चाय पर चर्चा से कई मायने निकाले जा रहे है..

अपने महराज के स्वागत के लिए मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने बंगले को गेंदे और लिली के फूल से दुलहन की तरह सजाया…इस डिनर में सिंधिया समर्थक मंत्रियों और विधायकों के साथ ही दिग्विजय और कमलनाथ खेमे के भी मंत्री विधायक शामिल हुए. डिनर के दौरान सिंधिया ने हल्के मूड में सभी नेताओं के साथ चर्चा की…वही दिग्विजय सिंह के बेटे मंत्री जयवर्धन सिंह के साथ सिंधिया की पोलिटिकल केमेस्ट्री भी देखने को मिली…डिनर के बाद सिंधिया ने मीडिया से यह जरूर कहा कि उनका पार्टी कार्यकर्ताओं नेताओं के साथ पारिवारिक रिश्ता है और इसी रिश्ते के कारण वो यहां सबके साथ डिनर करने आए हैं…

हालांकि मंत्री गोविंद सिंह राजपूत की डिनर पार्टी से सीएम कमलनाथ, मंत्री आरिफ अकील, जीतू पटवारी, तरुण भनोत ने दूरी बनाकर रखी. डिनर के बाद दूसरे दिन सिंधिया सीएम कमलनाथ के विश्वसनीय मंत्री सुखदेव पांसे के घर पहुंचे और चाय पर चर्चा की–इस दौरान सिंधिया समर्थक मंत्रियों के साथ उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी भी मौजूद रही…लंबे समय बाद सिंधिया की सभी मंत्रियों और विधायकों के साथ चर्चा के कई सियासी मायने निकाले जा रहे है जिसे लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि हर चीज के पीछे राजनीति मकसद नहीं है,वे सिर्फ संवाद और चर्चा करने आए है–

हालाँकि डिनर डिप्लोमेसी और चाय पर चर्चा के दौरान सिंधिया ने अपने अंदाज से सभी को रिझाने की कोशिश की. साथ ही खुद को एक सर्वमान्य नेता स्थापित करने की कोशिश में भी सिंधिया नजर आए…उनके इस दौरे को राज्यसभा और पीसीसी चीफ की दावेदारी से जोड़कर जरूर देखा जा रहा है लेकिन उनका कहना है कि मेने कभी पद की मांग नहीं की..मेरा दायित्व है मध्यप्रदेश में विकास हो– बता दे कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी से शिकस्त के बाद पार्टी में हाशिए पर गए सिंधिया अब राज्यसभा  की सीट के जरिए संसद में वापसी की तैयारी में है और इसके लिए कांग्रेस के अंदर माहौल बनाने की न सिर्फ कोशिश कर रहे बल्कि हर गुट के मंत्री और विधायकों के घुल मिल भी रहे है..

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED