कैलाश विजयवर्गीय अपनी पैतृक दुकान पहुंचे !

Spread the love

इंदौर | भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय मंगलवार सुबह एक अलग अंदाज में नजर आए दीपावली के त्यौहार पर कैलाश अपनी पुश्तैनी दुकान पहुंचे और वहां बैठकर ग्राहकों को सामान बांटा

विधानसभा में टिकटों की मारामारी के बीच मंगलवार को हर साल की तरह इस बार भी भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय दिवाली के मौके पर नंदानगर स्थित अपनी पैतृक किराना दुकान पर बैठे और किराना सामान की बिक्री की.

बता दें की नंदानगर में घर के पास ही विजयवर्गीय की पैतृक दुकान है। ये किराना दुकान है। काकी जी की दुकान के नाम से प्रसिद्ध इस दुकान को एक समय विजयवर्गीय की माता जी संचालित करती थी बचपन और युवावस्था में कैलाश विजयवर्गीय अक्सर यहां बैठते थे और अपनी मां की मदद करते थे, राजनीति में चमकने के बाद विजयवर्गीय दीपोत्सव के दौरान इस दुकान पर बैठते हैं। स्थानीय लोग व उनके समर्थक खरीदारी के बहाने विजयवर्गीय से मुलाकात करने पहुँचे।

इस दौरान उन्होंने मिडिया से भी चर्चा की उन्होंने कहा भाजपा में योग्यता के अनुसार टिकट का विरतण किया है। जो योग्य है उसे जिम्मेदारी दी गई है। परिवारवाद वहां होता है जहां किसी व्यक्ति में कोई योग्यता ना हो और वह अपने परिवार की वजह से किसी पद पर बैठा हो। विजयवर्गीय ने इस पर मामले गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी का नाम लिया.

कुल मिलाकर अलग-अलग हुनर के लिए पहचाने जाने वाले विजयवर्गीय को एक दुकानदार के रूप में देखकर एक बार लोग मुस्कराए बिना नहीं रह सके.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED