अतिथि विद्वानों के सामने झुकी कमलनाथ सरकार, लिया ये बड़ा फैसला !

अतिथि विद्वानों के सामने झुकी कमलनाथ सरकार, लिया ये बड़ा फैसला !
Spread the love

भोपाल : मध्यप्रदेश में लम्बे समय से  नियमितीकरण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे अतिथि विद्वानों को लेकर कमलनाथ सरकार ने बड़ा फैसला किया है| जी हाँ सरकार ने फैसला लिया है कि किसी भी अतिथि विद्वान को बाहर नहीं किया जाएगा| नियमितिकरण को लेकर समिति का गठन किया जाएगा।  मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया है| मंत्री पटवारी के मुताबिक अतिथि विद्वान पहले की तरह कार्य करेंगे। क्रीड़ा या ग्रंथपाल में कार्यरत वे अतिथि विद्वान जिन्हें पीएससी से मौका मिला, लेकिन जो पहले से भी हैं वह भी काम करेंगे।

जीतू पटवारी ने आश्वासन दिया है कि कोई भी अतिथि विद्वान बाहर नहीं किए जाएंगे। जीतू पटवारी ने अतिथि विद्वानों से काम पर वापस लौटने की अपील की है। वही जीतू पटवारी ने अतिथि विद्वानों की परेशानी के लिए शिवराज सिंह और उनकी पूर्व सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।  वही मध्य प्रदेश भू राजस्व संहिता में संशोधन करके ग्रामीण क्षेत्रों में बांटे गए पट्टों पर मालिकाना हक दिया जाएगा। अब तक उन्हें मालिकाना हक नहीं मिला था। इसकी वजह से पट्टाधारक कर्ज नहीं ले पाता था और न ही जमानत। इसके लिए सरकार धारा 244 में संशोधन करेगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED