माॅब लिंचिंग की घटना से घिरी कमलनाथ सरकार, डैमेज कंट्रोल में जुटे मंत्री-नेता!

माॅब लिंचिंग की घटना से घिरी कमलनाथ सरकार, डैमेज कंट्रोल में जुटे मंत्री-नेता!
Spread the love

भोपाल: धार में हुई मॉब लिंचिंग की घटना ने कमलनाथ सरकार को प्रदेश की विधि व्यवस्था को लेकर बैकफुट पर धकेल दिया है। लगातार हो रहे विपक्ष के हमलों के बीच सरकार के मंत्री और कांग्रेस के नेत़ा डैमेज कंट्रोल में जुट गए हैं।  बुधवार को जिले के बोरलई गांव में हुई मॉब लिंचिंग की घटना ने पूरे प्रदेश को झकझोड़ दिया है। इस मामले में कमलनाथ सरकार ने सख्त रवैया अपनाते हुए जांच के आदेश दिए हैं। इसी को लेकर गुरूवार को मीडिय़ा से चर्चा करते हुए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बताया कि पूरे मामले की रिपोर्ट जिले के डीएम और एसपी से ले ली गई है। और मामले की बेहतर जांच के लिए एक एसआईटी की टीम का गठन भी कर दिया गया है।

वहीं पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव ने भी मनावर में हुई घटना पर बेहद दुख जताया है और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है।  कांग्रेस की तरफ से पार्टी की मीडिया सेल की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बीजेपी पर पलटवार करते हुए कहा कि बीजेपी ने हमेशा से मॉब लिंचिंग को प्रश्रय दिया है, इस पूरी घटना को उनका ही एक नेता लीड करते हुए पाया गाया है। वहीं कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने  बीजेपी के आरोपों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पार्टी पर निम्न स्तर की राजनीति करने का आरोप लगाया।

कुल मिलाकर घटना को लेकर राज्य की सियासत भी गरमा गई है। बीजेपी ने प्रदेश में विधि व्यवस्था के खराब होते स्तर को लेकर जहां कमलनाथ सरकार पर जमकर हमले बोल रही है, वहीं बचाव मुद्रा में आई कांग्रेस भी जमकर बीजेपी पर पलटवार कर रही है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED