MPPSC के एक सवाल से सवालों में घिरी कमलनाथ सरकार, कौन है जिम्मेदार !

MPPSC के एक सवाल से सवालों में घिरी कमलनाथ सरकार, कौन है जिम्मेदार !
Spread the love

भोपाल :  MPPSC की परीक्षा में भील जनजाति को लेकर किए गए ए‍क सवाल पर बवाल मच गया है. सोशल मीडिया पर इसे लेकर जिम्मेदारों पर FIR दर्ज करने की मांग उठने लगी है. व्यापम घोटाले  के व्हिसल ब्लोअर डॉ आनंद राय ने ट्वीट कर एट्रोसिटी एक्ट के तहत मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की सचिव रेणु पंत और आयोग के अध्यक्ष के विरुद्ध नामजद एफआईआर दर्ज करने की मांग की है. साथ में उन्होंने कहा कि इन जिम्मेदारों को तत्काल से बर्खास्त कर देना चाहिए. पंधाना विधायक राम डांगोरे ने कहा सरकार और मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग इस ग़लती के लिए माफी मांगें. इतना ही नहीं खुद कांग्रेस विधायक और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह ने सीएम कमलनाथ से माफ़ी की मांग की है..

दरअसल MPPSC की परीक्षा में भील जनजाति को लेकर एक गद्यांश दिया गया था. इसके आधार पर कई सवाल पूछे गए थे. इन्हीं सवालों और गद्यांश को लेकर बताया जा रहा है कि भील जनजाति का अपमान किया गया है. गद्यांश के आधार पर प्रश्न पूछा गया और बताया गया कि भील जनजाति शराब के अथाह सागर में डूबती जा रही है. समाज के लोग गैर वैधानिक और अनैतिक कामों में संलिप्त हो जाते हैं. भीलों की आपराधिक प्रवृत्ति का कारण देनदारियों को पूरा न करना है. भील की आर्थिक विपन्नता का कारण आय से अधिक खर्च करना है’. इस प्रश्न को लेकर सियासत गरमा गई और बीजेपी सीएम कमलनाथ से माफ़ी की मांग पर अड़ गई.. कुल मिलाकर MPPSC में पूछे गए इस प्रश्न से प्रदेशभर के भील समुदाय में आक्रोश है और सरकार के खिलाफ जगह जगह प्रदर्शन शुरू हो गया है..

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED