कमलनाथ सरकार का ऊँ नमः शिवाय प्लान!

कमलनाथ सरकार का ऊँ नमः शिवाय प्लान!
Spread the love

भोपालः सॉफ्ट हिंदुत्व की राह पर एक और कदम बढ़ाते हुए मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने अब महाकालेश्वर के बाद ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग को संवारने की दिशा में पहल कर दी है. गुरुवार को सीएम कमनलाथ ने प्रदेश के दूसरे ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर मंदिर परिसर के विकास के लिए 156 करोड़ रुपए की कार्ययोजना को मंजूरी दे दी है. इससे पहले सरकार महाकाल मंदिर परिसर को संवारने के लिए 300 करोड़ रुपए स्वीकृत कर चुकी है.  देश के 12 ज्योतिर्लिंग में से दो ज्योतिर्लिंग मध्य प्रदेश में स्थापित हैं. ये पवित्र स्थान विश्व पर्यटन केंद्र के रूप में अपनी पहचान बनाएं, इसके लिए ओंकार सर्किट योजना तैयार की गई है. इसके तहत इंदौर को भी शामिल किया गया है, क्योंकि इंदौर से 137 किलोमीटर के दायरे में दो ज्योतिर्लिंग हैं.

55 किलोमीटर दूर उज्जैन में महाकाल तो 78 किमी दूर ओंकारेश्वर में ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग है. जबकि दोनों ज्योतिर्लिंग के बीच की दूरी भी सिर्फ 137 किलोमीटर है. श्रद्धालु चाहें तो एक ही दिन में दोनों के दर्शन कर सकते हैं, लेकिन ज्यादातर ऐसा कर नहीं पाते. इसलिए इस योजना को तैयार किया गया है. इंदौर की पूर्व शासक अहिल्याबाई होलकर भी शिव की उपासक थीं. इसी वजह से उज्जैन-इंदौर-ओंकारेश्वर को मिलाकर धार्मिक टूरिज्म जोन बनाने की तैयारी की जा रही है, जिसमें चार दिन के टूर पैकेज में भोपाल के पास भोजपुर के शिव दर्शन, उज्जैन के महाकालेश्वर, ओंकारेश्वर के ममलेश्वर, इंदौर के खजराना गणेश, मांडू और महेश्वर के दर्शनीय स्थलों को पर्यटक देख सकेंगे.

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED