कमलनाथ के मंत्री ने बताई ज़िंदगी में पुस्तकों की असली अहमियत !

कमलनाथ के मंत्री ने बताई ज़िंदगी में पुस्तकों की असली अहमियत !
Spread the love

भोपाल: भोपाल के शासकीय मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय में प्रत्येक वर्ष की भांति इस बार भी पुस्तक मेले का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने किया। इस दौरान उन्होंने पुस्तकों की अहमियत के बारे में चर्चा की। शासकीय मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय में पुस्तक मेला–2019 का उद्घाटन करते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि पुस्तकें इंसान की सबसे अच्छी मित्र होती हैं। पुस्तकों से ज्ञान ही नहीं मिलता बल्कि जीवन को समझने की दृष्टि भी मिलती है। जो लोग पुस्तकों को अपना साथी बनाते हैं उनका विवेक उन्हें हमेशा गलत काम करने से बचाता है। डॉ. चौधरी ने कहा कि इस मेले में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को अधिकतम छूट के साथ पुस्तकें उपलब्ध होंगी। एक ही छत के नीचे तुलनात्मक रूप से अच्छी विषय वस्तु की पुस्तकें कम मूल्य पर मिल सकेंगी। इसी के साथ उन्होंने कहा कि मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय एक मात्र ऐसा पुस्तकालय है जहाँ पुस्तकें अल्मारी में कैद न होकर विविध गतिविधियों के माध्यम से साहित्य प्रेमियों में ज्ञान का प्रवाह करती हैं।

बता दें कि शासकीय मौलाना आजाद केन्द्रीय पुस्तकालय 1955 से निरन्तर सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक विद्यार्थियों को अध्ययन की सुविधा उपलब्ध करा रहा है। यहाँ लगभग 8000 सदस्य हैं जिनमें विद्यार्थी सदस्यों की संख्या सर्वाधिक है। लगभग 700 से 800 विद्यार्थी इसके सदस्य हैं। इनमें भोपाल के अलावा आस-पास के शहरों एवं ग्रामीणों क्षेत्रों के भी विद्यार्थी भी शामिल हैं। इसके अलावा पुस्तकाल विभिन्न गतिविधियाँ जैसे क्विज, व्याख्यान-माला, मॉक इन्टरव्यू, मॉक परीक्षाएँ एवं प्रति रविवार शैक्षणिक कार्यक्रमों का आयोजन भी करता है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED