नसबंदी के टारगेट पर कमलनाथ की घेराबंदी, विवाद बढ़ा तो सरकार ने लिया यू-टर्न !

नसबंदी के टारगेट पर कमलनाथ की घेराबंदी, विवाद बढ़ा तो सरकार ने लिया यू-टर्न !
Spread the love

BHOPAL – जनसंख्या नियंत्रण पर कमलनाथ सरकार ने अजीबो-गरीब फरमान जारी किया था. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वो कम से कम एक व्यक्ति की नसबंदी कराएं और अगर ऐसा नहीं होता है तो उनको जबरदस्ती वीआरएस दे दिया जाएगा और उनके वेतन में भी कटौती की जाएगी. इस आदेश के सामने आते ही एमपी की सियासत में खलबली मच गई..वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसे अघोषित आपातकाल करार दे दिया–

बीजेपी के कुछ नेता इस विभागीय आदेश से आगबबूला हो गए. पूर्व स्वास्थ्य और जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा यह निर्णय आपातकाल की प्रीमेच्योर डिलीवरी जैसा है–वही विश्वास सारंग ने भी इसका विरोध किया

पुरुष नसबंदी का टारगेट पूरा करने में सख्ती बरतने के आदेश पर विवाद बढ़ने पर ऑर्डर देने वाली राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक आईएएस अफसर छवि भारद्वाज पर एक्शन हो गया है. उन्हें स्वास्थ्य विभाग से हटा दिया गया है. छवि भारद्वाज को अब मंत्रालय में OSD बनाया गया है. और सरकार ने सर्कुलर वापस ले लिया

 

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED