वचन से पलटी कमलनाथ सरकार, पेट्रोल- डीजल पर कहा ऐसा !

Spread the love

भोपाल | कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के अपने वचनपत्र में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस पर टैक्स में छूट का वादा किया था. लेकिन, अब सरकार बनते ही कांग्रेस अपने वचन से मुकरती हुई नजर आ रही है…वाणिज्यकर का कहना है कि अब इस मामले को जीएसटी काउंसिल में उठाया जायेगा.

मध्यप्रदेश में सियासी वनवास खत्म करने के लिए कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान पेट्रोल डीजल की महंगाई का मुद्दा जोर शोर से उठाया था…कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भोपाल में बैलगाड़ी यात्रा भी निकाली थी…वही अपने वचनपत्र में कमलनाथ ने 5 रूपए पेट्रोल और 3 रूपए डीजल पर कटौती की बात कही थी. लेकिन, सरकार बनने के बाद अब तक कमलनाथ सरकार ने अपने इस वचन पर कोई फैसला नहीं लिया है…..वाणिज्य कर मंत्री मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर का कहना है कि वो अब इस मामले को जीएसटी काउंसिंल में उठाकर, पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी में शामिल कर राहत की बात रखेंगे और अन्य चीजों की तरह पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की बात रखेंगे

गौरतलब है कि कुछ ही महीनों में लोकसभा चुनाव आने वाले है…ऐसे में पेट्रोल डीजल के टेक्स में राहत देने की कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती है..अगर कमलनाथ सरकार अपना वचन पूरा नहीं करती है तो एमपी में कांग्रेस को खामियाजा भुगतना पड़ सकता है..

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED