काली कमाई पर लोकायुक्त का शिकंजा, सहायक आबकारी आयुक्त के घर मिला कुबेर का खजाना!

काली कमाई पर लोकायुक्त का शिकंजा, सहायक आबकारी आयुक्त के घर मिला कुबेर का खजाना!
Spread the love

इंदौर:- मध्यप्रदेश में लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। प्रदेश के सहायक आबकारी आयुक्त आलोक कुमार खरे के कई ठिकानों पर लोकायुक्त ने छापा मारा है। यह कार्रवाई देर रात से चल रही है। बताया जा रहा है कि आलोक खरे के इंदौर, भोपाल, छतरपुर और रायसेन समेत कई ठिकानों में लोकायुक्त ने दबिश दी है। छतरपुर में आलोक खरे के पिता लालजी खरे रहते हैं। भोपाल लोकायुक्त के निर्देश पर सागर लोकायुक्त की टीम छतरपुर में कार्रवाई कर रही है। लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी का कहना है कि ये प्रदेश की सबसे बड़ी कार्रवाई निकल सकती है। वहीं इंदौर में कार्रवाई करने के लिए इंदौर लोकायुक्त टीम की मदद ली गई है। जानकारी के मुताबिक इंदौर के ग्रेंड एक्सओटिका सहित एक अन्य स्थान पर जब टीम पहुंची तो उन्हें ताला मिला। बताया जा रहा है कि खरे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत मिली थी, जिस पर लोकायुक्त पुलिस ने यह एक्शन लिया।

प्रारंभिक जांच में ही करीब 100 करोड़ से अधिक की संपति का खुलासा हो चुका है। इंदौर के पॉश इलाके में एक पैंट हाउस और एक बंगला मिला है। यहां से तीन किलो सोना मिलने की भी खबर है। भोपाल के चूनाभट्टी और बाग मुगालियां में दो बड़े बंगले और कोलार में फार्म हाउस, रायसेन में दो फार्म हाउस का खुलासा हुआ है। लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी ने बताया कि लोकायुक्त टीम के 70 सदस्य एक साथ सात जगह कार्रवाई कर रहे हैं। एक दर्जन से अधिक लग्जरी गाड़ियां मिल चुकी हैं। इंदौर के बंगले से 10 लाख रुपए और रायसेन के फार्म हाउस से पांच लाख रुपए मिले हैं।
खरे का छतरपुर स्थित निवास की कीमत भी करोड़ों रुपए बताई जा रही है। सूचना यह भी है कि खरे के छतरपुर स्थित निवास से विदेशी मुद्रा भी मिली है। रायसेन स्थित खरे का लग्जरी फार्म हाउस देखकर लोकायुक्त टीम भी हैरान रह गई।

इंदौर में कार्रवाई करने के लिए इंदौर लोकायुक्त टीम की मदद ली गई है। इंदौर के ग्रेंड एक्सओटिका सहित एक अन्य स्थान पर जब टीम पहुंची तो उन्हें ताला मिला। यहां लोकायुक्त टीम के लोग अभी खड़े हुए हैं। खरे की पत्नी रायसेन में फलों की खेती कर रही हैं और वे पत्नी के नाम से ही इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे थे।

इंदौर के सहायक आबकारी आयुक्त नरेश चौबे के ट्रांसफर के बाद भोपाल से सहायक आबकारी आयुक्त आलोक खरे को इंदौर सहायक आबकारी आयुक्त की जिम्मेदारी दी गई थी। कुल मिलाकर फ़िलहाल पुलिस अलग अलग ठिकानों पर दस्तावेज खंगाले जा रहे है| माना जा रहा है कि अभी और कई खुलासे होना बाकी है|

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED