जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में हुआ महामंथन !

जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में हुआ महामंथन !
Spread the love

इंदौर –  कोरोना काल के दौरान सरकारी काम पूरी तरह से ठप्प हो गए थे । अब सरकारी कामकाज धीरे धीरे पटरी पर आने लगे हैं। इसी के तहत शुक्रवार को जिला मूल्यांकन समिति की  बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में आमजन द्वारा दिए गए कुछ सुझावों को माना गया जबकि कुछ सुझावों को खारिज कर दिया गया। दरअसल  लॉक डाउन के पहले जिला मूल्यांकन समिति की बैठक हुई थी जिसमे गाइडलाइन बढ़ाने पर तो कोई निर्णय नही हुआ था। लेकिन निर्माण लागत बढ़ाने का निर्णय लिया गया था, इसके अलावा भी कई महत्वपूर्ण बिंदु तय किए थे।

इन्हीं सभी पर आमजन से सुझाव आमंत्रित किए गए थे। लॉक डाउन के चलते लंबे समय से बैठक नही हो पाई थी, कोरोना संक्रमण के हालात सामान्य होने से पंजीयन विभाग द्वारा शुक्रवार को जिला मूल्यांकन समिति की बैठक आहूत की गई। समिति को 26 सुझाव प्राप्त हुए थे। जिसमें से 19 को माना गया था जबकि शेष को खारिज कर दिया गया। इस बैठक में भी गाइडलाइन बढ़ाने का प्रस्ताव किसी भी रजिस्ट्रार द्वारा नही रखा गया।

बैठक में समिति के सदस्य व विधायक महेंद्र हार्डिया ने गाइडलाइन को करीब 20 प्रतिशत कम करने का सुझाव दिया जिसे राज्य सरकार को भेजा जाएगा।  कुछ क्षेत्रों में गाइडलाइन बढ़ाने का निर्णय लिया गया था लेकिन इस प्रस्ताव को कलेक्टर ने मंजूर न करते हुए अपर कलेक्टर पवन जैन को इन सभी कॉलोनियों के आसपास की प्रॉपर्टी के सही रेट की जांच करने के निर्देश दिए।  उन्होंने बताया कि हो सकता है कोई कॉलोनाइजर अपनी कॉलोनी की गाइडलाइन बढ़ाने का प्रयास कर रहा हो इसी को ध्यान में रखते हुए जांच करने को कहा गया।  जिला मूल्यांकन समिति की  अगली बैठक जल्द ही आहूत की जाएगी जिसमें कुछ कॉलोनियों की बढ़ाई गई गाइडलाइन पर विचार किया जाएगा।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED