सावन सोमवार की पहली सवारी में ठाट-बाठ से निकले महाकाल

सावन सोमवार की पहली सवारी में ठाट-बाठ से निकले महाकाल
Spread the love

उज्जैन : उज्जैन में पहले सावन सोमवार पर बाबा महाकालेश्वर की सवारी ठाट-बाठ से निकली। चांदी की पालकी में सवार बाबा महाकाल ने नगर भ्रमण कर भक्तों को दर्शन दिए और प्रजा का हाल जाना..सवारी को देखने के लिए देशभर से हजारों की तादात में श्रद्धालु उज्जैन पहुंचे…

श्रावण मास की पहली सवारी सोमवार शाम 4 बजे महाकाल मंदिर से निकली। सवारी के पहले महाकाल मंदिर के सभामंडप में बाबा के मनमहेश स्वरूप का पूजन हुआ। गार्ड ऑफ ऑनर के बाद बाबा पालकी में विराजित होकर प्रजा का हाल जानने निकले। सवारी परंपरागत मार्ग से होकर रामघाट पहुंची, जहां अभिषेक-पूजन के बाद सवारी पुन: मंदिर पहुंची। पहली सवारी में ही 30 हजार से ज्यादा भक्त सवारी में शामिल हुए हैं।

सवारी में जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के कडे इंतजाम किए गये थे। चप्पे-चप्पे पर पुलिस जवान तैनात थे। प्रशासन के आला अधिकारी एवं पुलिस के आला अधिकारी भी सवारी की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे थे। इस बार श्रावण और भादौ में प्रत्येक सोमवार को कुल छह सवारी निकलेगी। आखिरी शाही सवारी 4 सितंबर को निकाली जाएगी।

बाबा महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए रात से ही उज्जैन में भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। बाबा के दर्शन को देशभर से श्रद्धालु यहां पहुंचे हैं। मंदिर परिसर सहित पूरी उज्जैन नगरी बाबा महाकाल के नारे से गुंजायमान है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED