मंदसौर की गैंगरेप पीड़िता को नहीं अच्छा लग रहा हॉस्पिटल का खाना,इंदौरी पोहे समोसे की मांग

मंदसौर की गैंगरेप पीड़िता को नहीं अच्छा लग रहा हॉस्पिटल का खाना,इंदौरी पोहे समोसे की मांग
Spread the love

इंदौर.एमवाय अस्पताल में 28 दिन से भर्ती मंदसौर दुष्कर्म पीड़ित बच्ची की हालत में काफी सुधार  है.  लगातार एक ही कैंटीन से खाना आने के कारण उसे खाना अच्छा नहीं लग रहा. ऐसे में वह इंदौरी पोहा-समोसा और जलेबी की डिमांड कर रही हैं और डॉक्टर्स ने भी उसे थोड़ा थोड़ा खाने की इजाजत दे दी हैं.

दस दिन पहले डॉक्टर्स के कहने पर बच्ची के घर वालो ने उसे जूस के साथ हलका भोजन (दलिया, दाल-चावल) खिलाना शुरू कर दिया था.  फिर उसकी पसंद के अनुसार चॉकलेट, गुलाबजामुन भी उसे दिए गए.  अब वह सभी प्रकार का हलका खाना ले रही हैं.
इसके बाद उसे कैंटीन से ही सब्जी-रोटी, दाल-चावल, सलाद दिया जा रहा है.

लगातार एक ही जगह से दोनों समय भोजन से बच्ची का स्वाद बदलने के लिए घरवाले उसके लिए कभी-कभी बाहर से खाना मंगा रहे हैं, परिजन के अनुसार वह बार-बार घर जाने की जिद कर रही है और घर का खाना डिमांड कर रही हैं.बच्ची को जिस प्राइवेट रूम में रखा गया है, उसके बाहर आज भी  24 घंटे पुलिसकर्मी तैनात हैं. वहीं हॉस्पिटल में उससे कौन मिलने आ रहा हैं और कब सब लिखा जा रहा हैं.बच्ची की डेली रिपोर्ट भी डॉक्टर्स द्वारा लिखी जा रही हैं.बच्ची का एक और ऑपरेशन और होना हैं और डॉक्टर्स द्वारा उसमे पहले से कही जयादा सुधार हैं.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED