शिवराज सरकार में हुआ 500 करोड़ का दवा घोटाला, EOW ने खोली पोल

शिवराज सरकार में हुआ 500 करोड़ का दवा घोटाला, EOW ने खोली पोल
Spread the love

भोपालः मध्य प्रदेश में ईओडब्ल्यू की जांच में दवा खरीदी घोटाले का विदेशी कनेक्शन सामने आया है. सूत्रों के मुताबिक ये घोटाला करीब 500 करोड़ का है. जबकि इस खुलासे के बाद भाजपा और कांग्रेस में घमासान शुरू हो गया है। ईओडब्ल्यू  की जांच में मध्य प्रदेश में दवा खरीदी घोटाले का विदेशी कनेक्शन सामने आया है. सूत्रों के मुताबिक घोटाले की करोड़ों की राशि को सबसे पहले विदेश में भेजा गया और बाद में एफडीआई के जरिए राशि को भारत लगाया गया. ये पूरा खेल बोगस कंपनियों के जरिए हुआ है. फिलहाल बीजेपी शासन में 2003 से 2010 के बीच हुए दवा खरीदी घोटाले की जांच ईओडब्ल्यू कर रही है. इस मामले में प्राथमिक जांच रजिस्टर्ड भी की गई है. जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे कई चौंकाने वाले खुलासे भी हो रहे हैं. इस मामले को लेकर भाजपा और कांग्रेस में सियासत शुरू हो गई है।

सूत्रों के मुताबिक बोगस कंपनियों के जरिए 500 करोड़ का घोटाला किया गया है, जिन कंपनियों से दवा खरीदना बताया गया. वह सभी कंपनी सिर्फ कागजों पर चल रही थीं. हैरानी की बात है कि मलेशिया, सिंगापुर और हांगकांग में राशि का ट्रांसफर हुआ है. जबकि ईओडब्ल्यू की जांच में कंपनियों के फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ. अब ईओडब्ल्यू इन पांच से ज्यादा बोगस कंपनियों की बैलेंस शीट, उनके खातों का ट्रांजेक्शन, किन खातों में राशि का ट्रांसफर हुआ, किन व्यक्तियों के खाते में पैसा पहुंचा समेत कई बिंदुओं पर जांच कर रही है. इसी जांच में यह बात भी पता चली है कि घोटाले की राशि में कई अफसरों और राजनेताओं की हिस्सेदारी है. इस घोटाले में विदेशों तक मनीट्रेल हुआ है. यह मनीट्रेल भारत से विदेश होकर वापस भारत आया है. 500 करोड़ के इस घोटाले के सामने आते ही लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठने लगे हैं कि क्या शिवराज सरकार के दौरान मरीजों के साथ खिलवाड़ किया जाता था ?

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED