MP में यहां पहाड़ों को चीरकर प्रकट हुई माँ, एक दिन में माता लेती है तीन अवतार !

MP में यहां पहाड़ों को चीरकर प्रकट हुई माँ, एक दिन में माता लेती है तीन अवतार  !
Spread the love

देवास :- देवास जिले के टोंकखुर्द से महज 28 किमी दूर इकलेरा माताजी मंदिर ऊंची पहाड़ियों पर स्तिथ है. मां बिजासनी का यह मंदिर कुरुक्षेत्र की आस्था का केंद्र बिंदु मना जाता है. मंदिर से जुड़े इतिहास की अगर हम बात कर तो ऐसी किवदंतियां हैं कि हजारों वर्ष पूर्व मां बिजासन एक चट्टान चिरकर प्रकट हुई थी. इसी कारण माता जी का यह भव्य मंदिर चट्टान से महज कुछ ही दूरी बना है. अमूमन यहाँ भक्तो को ताँता लगा रहता है. लेकिन नवरात्र के समय श्रद्धालुओं की मंदिर में अपार भीड़ लगती है.

बता दें कि चेत्र नवरात्रि के समय यहां पर नौ दिवसीय मेला लगाया जाता है. साथ ही मां को प्रसन्न करने के लिए शतचंडी महायज्ञ भी किया जाता है. आपको जानकार हैरानी होगी कि मूर्ति स्थापना के समय से ही मंदिर में अखंड ज्योत जलती आ रही है.मंदिर में माता की सेवा में लगे पंडित ने मीडिया को बताया कि मंदिर में भक्त कई मनोकामना लेकर आते हैं. मां सभी की सुनती है. सच्चे मन से जो भी मां से मांगता है मां उसे जरूर करती है. वहीं माता के भव्य रूप के दर्शन करने आए भक्त भी माता के चमत्कारों का वर्णन करते नहीं थक रहे थे.

बता दें कि मंदिर से जुडी ऐसी मान्यता है कि मां बिजासनी एक दिन में तीन रूप बदलती है. लिहाजा मंदिर भक्तो की आस्था का केंद्र है. कुल मिलाकर टोंकखुर्द की इकलेरा माता मंदिर की बिजासनी मां भक्तो हर दुःख का निवारण करती है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED