MP के सरकारी शिक्षक ने नासा के दफ्तर की तरह स्कूल में बना दी ऐसी लैब !

MP के सरकारी शिक्षक ने नासा के दफ्तर की तरह स्कूल में बना दी ऐसी लैब !
Spread the love

गाडरवारा: सरकारी स्कूलें अक्सर अपनी लापरवाही और ढूलमुल व्यवस्थाओं के कारण निशाने पर रहती हैं। संसाधन होने के बावजूद स्कुल के प्रशासकों की निष्क्रियता के कारण बच्चों को अच्छी सुविधाएं नहीं मिल पाती हैं। मगर गाडरवारा के एक शिक्षक ने एक सरकारी स्कूल की तस्वीर ही बदल कर रख दी है। दरअसल इन दिनों  मध्यप्रदेश के एक सरकारी स्कूल बीटीआई स्कूल की केमेस्ट्री की प्रयोगशाला की काफी चर्चाओं में है। जहां के एक शिक्षक के के राजोरिया को विज्ञान का ऐसा जुनून सवार हुआ कि उन्होंने बच्चों में साइंस के प्रति अलख जगाने और बच्चों में साइंस के प्रति रुचि जगाने स्कूल में ही साइंस की अनोखी दुनिया बना डाली।

स्कूल के प्राचार्य का कहना है कि शिक्षक के के राजोरिया द्वारा विज्ञान को लेकर जो काम किया गया है वो पूरे स्कूल के लिए एक उपलब्धि है जिसे देखने दूर दूर से लोग आ रहे हैं। वहीं शाला प्रबंधन अध्यक्ष संजय राजोरिया का कहना है कि सांसद उदय प्रताप द्वारा कहा गया है कि सभी शासकीय स्कूलों में इस तरह की लैब का निर्माण होना चाहिए और सांसद ने इसके लिए कोष भी उपलब्ध करवाए हैं।

वहीं इस लैब के शिल्पकार शिक्षक के के राजोरिया ने बताया कि इस लैब को उन्होंने इको फ्रैंडली बनाया है। बहरहाल सरकारी स्कूल के शिक्षक द्वारा छात्रों में विज्ञान के प्रति जागरूकता लाने के लिए उठाया गया ये कदम आज उन प्राइवेट स्कूलों और बड़े संस्थानों को आईना दिखा रहा है जहां मौटी फीस लेकर छात्रों को पढ़ाया जाता है और साथ ही साथ लोगों को प्रेरणा दे रहा है कि अगर शिक्षक मन में ठान लें तो क्या नहीं कर सकते हैं। वहीं छात्रों में इस लैब को लेकर काफी उत्साह देखा जा रहा है।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED