इंदौर में मोतियाबिंद ऑपरेशन में लापरवाही, 11 लोगों की रोशनी गई, सरकार ने लिया बड़ा एक्शन !!

इंदौर में मोतियाबिंद ऑपरेशन में लापरवाही, 11 लोगों की रोशनी गई, सरकार ने लिया बड़ा एक्शन !!
Spread the love

इंदौर:- इंदौर के आई हॉस्पिटल में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. जी हाँ मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद इंदौर आई हॉस्पिटल में 11 मरीजों की आंखों की रोशनी चली गई. कुछ मरीजों को एक आंख तो कुछ मरीजों को दोनों आंखों से दिखाई नहीं दे रहा. मामले पर खुद सीएम कमलनाथ ने संज्ञान लिया है.

अगर आप भी इंदौर के आई हॉस्पिटल में अपनी आँखों का इलाज करवा रहे हैं तो अब सावधान हो जाइए. जी हाँ यहाँ अस्पताल की लापरवाही ने एक या दो नहीं बल्कि 11 मरीजों की आँखों की रोशनी छीन ली है, सभी को अंधा बना दिया है. दरअसल ये सभी मरीज मोतियाबिंद की बीमारी से पीड़ित थे. सभी आँखों में रोशनी की उम्मीद लिए ऑपरेशन करवाने आए थे लेकिन उन्हें क्या पता था कि उनके जिंदगी में अंधेरा छा जाएगा. ऑपरेशन में लापरवाही के चलते मरीजों की आंखों की ज्योति चली गई.

दरअसल बीते 8 अगस्त को राष्ट्रीय अंधत्व निवारण कार्यक्रम के तहत मोतियाबिंद के मरीजों को आई हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था. उसी दिन उन सभी का ऑपरेशन किया गया. इसके अगले दिन यानी 9 अगस्त को मरीजों की आंखों में दवाई डाली गई जिसके बाद उन्हें सबकुछ सफेद दिखना शुरू हो गया. कुछ मरीजों ने उन्हें सबकुछ काली छाया सी दिखने की शिकायत की. जांच के बाद डॉक्टरों ने माना कि इनकी आंखों में इंफेक्शन हो गया है. वही मामला सीएम कमलनाथ तक पहुँच गया. इधर, स्वास्थ्य विभाग ने घटना के बाद हॉस्पिटल का ओटी सील कर दिया है. यहां आंखों के ऑपरेशन पर पाबंदी लगा दी है. जांच के बाद कारण स्पष्ट होने पर कड़ी कार्रवाई की बात कही जा रही है. अस्पताल के नेत्र रोग विशेषज्ञ ने बताया कि संक्रमण का कारण अब तक पता नहीं चला है. अन्य विशेषज्ञ भी जांच कर चुके हैं. सैंपल भी जांच के लिए भिजवाए हैं।

मामले में स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने पीड़ित मरीजों को मदद का ऐलान किया है. साथ ही कमलनाथ सरकार ने हॉस्पिटल का लायसेंस निरस्त करने के साथ-साथ दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए जाँच टीम गठित कर दी गई है. वही पीड़ित मरीजों को इलाज के लिए चोइथराम हॉस्पिटल रेफर किया गया.

कुल मिलाकर अब देखना होगा कि 7 सदस्यीय जाँच कमिटी जाँच करेगी. इसके बाद ही पता चल पाएगा कि इंफेक्शन की वजह से लोगों की आँखों की रोशनी गई है या फिर लापरवाही की वजह से.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED