टिकट में सीएम कमलनाथ का ओबीसी फाॅर्मूला!

टिकट में सीएम कमलनाथ का ओबीसी फाॅर्मूला!
Spread the love

मध्य प्रदेश-  राज्य में कांग्रेस द्वारा आरक्षण दोगुना करने के बाद अब लोकसभा चुनाव में पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को टिकट देने के तैयारी में है, जिससे लिए नेताओं के नाम पर मंथन शुरू हो गया है।

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की नजर सूबे के सबसे बड़े वोट बैंक पर है।

पिछड़ा वर्ग को साधने के लिए कमलनाथ सरकार द्वारा प्रदेश में 27 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा और दो दिन बाद अध्यादेश पर राजयपाल की मंजूरी से साफ है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने प्रदेश के सबसे बड़े वोट बैंक को साधने की तैयारी कर ली है।

लिहाजा विधानसभा चुनाव की तरह लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों के चयन में ओबीसी कार्ड खेलेगी।
सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ओबीसी आबादी वाली लोकसभा सीटों पर काम कर रही है।

आठ लोकसभा क्षेत्र दमोह, खजुराहो, खंडवा, होशंगाबाद, सागर, भोपाल, मंदसौर और जबलपुर में अन्य पिछड़ा वर्ग की 50 से 54 फीसदी आबादी बताई गई है। इन सीटों के अलावा रीवा, सतना जैसे लोकसभा क्षेत्रों में भी 48 फीसदी आबादी ओबीसी की बताई गई है।

कुल मिलाकर कांग्रेस के ओबीसी नेता लोकसभा चुनाव में अपनी प्रदेश सरकार के ओबीसी आरक्षण के मुद्दे को जनता के बीच ले जाने की तैयारी में है। हालांकि वे अब लोकसभा चुनाव में भी आबादी के आधार पर अपने जीतने वाले नेताओं के लिए टिकट की दावेदारी में भी जुट गए हैं।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED