शराब अहाते बंद पर सरकार का यू टर्न, दिया ऐसा जवाब !

शराब अहाते बंद पर सरकार का यू टर्न, दिया ऐसा जवाब !
Spread the love

इंदौर : एमपी में शराब दुकानों से आहाते बंद करने के मामले में सरकार ने यू टर्न ले लिया है. हाईकोर्ट में दायर याचिका का जवाब पेश कर सरकार ने इसे नीतिगत मामला बताया है, साथ ही अहाते हटाने से साफ इनकार कर दिया है. सरकार द्वारा जवाब में कहा गया कि आहाते हटाए गए तो लोग सार्वजनिक स्थलों पर शराबखोरी करेंगे, जिससे अपराधों में वृद्धि होगी. हालात और बिगड़ जाएंगे. साथ ही कहा कि धार्मिक स्थल और स्कूल-कॉलेजों के आसपास से शराब दुकानें पहले ही हटाई जा चुकी हैं. अब सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी.

बता दे कि यह जनहित याचिका पूर्व पार्षद महेश गर्ग की तरफ एडवोकेट मनीष यादव ने दायर की है. इसमें कहा गया है कि केबिनेट ने शराब दुकान और अहातों की नीति स्वीकारते हुए केवल 149 अहाते बंद किए. शेष 2200 से ज्यादा अहाते यथावत रखे और शराब दुकानें बंद होने का समय भी बढ़ा दिया. सोमवार को जस्टिस पीके जायसवाल और जस्टिस एसके अवस्थी की बेंच में शासन की तरफ से जवाब आया. याचिकाकर्ता ने रिजॉइंडर के लिए समय लेते हुए कहा कि एक तरफ तो प्रदेश में शराबबंदी की बात की जा रही है और दूसरी तरफ सरकार कह रही है कि अहाते बंद नहीं किए जा सकते.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED