फाइलों में उलझी ‘पुलिस कमिश्नरी’, कौन होगा कमिश्नर ? जानिये

फाइलों में उलझी ‘पुलिस कमिश्नरी’, कौन होगा कमिश्नर ? जानिये
Spread the love

भोपाल : मध्यप्रदेश में बढ़ते अपराधों पर नकेल कसने के लिए इंदौर और भोपाल में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने को लेकर राज्य सरकार अडिग नजर आ रही है. पीएचक्यू और वल्लभ भवन में पुलिस आयुक्त प्रणाली, फाइलों के पेंच में उलझती जा रही है. सिस्टम को कब से लागू किया जाए इस पर आशंकाओं के बादल छा गए हैं. प्रदेश की आईएएस लॉबी से जुड़े सीएम सचिवालय में पदस्थ अफसरों पर प्रदेश के अन्य आईएएस अफसरों का भारी दबाव है जिसके चलते पीएचक्यू से भेजा गया प्रस्ताव लेटलतीफी का शिकार हो रहा है.

गौरतलब है कि पुलिस आयुक्त प्रणाली को लागू करने के लिए पुलिस मुख्यालय से तमाम अनुच्छेदों का हवाला देते हुए प्रस्ताव भेजा गया था. जिसमें से कुछ मसलों पर प्रदेश के गृह सचिव सहमत नहीं हैं. सूत्रों ने बताया कि पुलिस आयुक्त प्रणाली भोपाल -इंदौर में लागू करने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा एक मंत्रिमंडल उपसमिति का गठन कर अंतिम सुझाव दिए जाने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है.

चुनाव से पहले लागू नहीं करने का दवाब-

इधर, पुलिस कमिश्नर सिस्टम के खिलाफ भारतीय प्रशासनिक सेवा और राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी जनप्रतिनिधियों के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को संदेश पहंचा रहे हैं कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले आयुक्त प्रणाली को किसी भी सूरत में न लागू किया जाए. इसके लिए सांसद, विधायक, महापौर और भाजपा संगठन में काम करने वाले प्रभावशाली नेताओं के रुतबे का इस्तेमाल भी किया जा रहा है. कहा जा रहा है कि पुलिस सिस्टम लागू हुआ तो अन्य अफसरों का मनोबल टूटेगा. यही वजह है कि इलेक्शन से पहले इसकी घोषणा रुकवाने के लिए जनप्रतिनिधियों से बकायदा पत्र भी लिखवाए जा रहे हैं.

कौन होगा कमिश्नर ?
मध्यप्रदेश के दो सबसे महत्वपूर्ण माने जाने वाले शहर भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम का मुखिया कौन होगा इसपर सस्पेंस बरक़रार है. प्रस्ताव में कमिश्नर प्रणाली के अफसरों का सेटअप तो बताया गया है लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि कमिश्नर एडीजी रैंक का अफसर होगा या पुलिस महानिरीक्षक होंगे. वर्तमान में दोनों शहरों में पदस्थ अफसर क्रमश: इंदौर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अजय शर्मा और डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा व भोपाल के आईजी जयदीप प्रसाद एवं डीआई धर्मेंद्र चौधरी को पुलिस महकमे में योग्य अफसरों के रूप में गिना जाता है. दोनों शहरों में चल रही पुलिसिंग से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं पाीएचक्यू में पदस्थ वरिष्ठ अफसर संतुष्ट नजर आ रहे हैं. इन अफसरों की जगह क्या नए अफसरों को मौका मिलेगा या रैंक तय होने के बाद वर्तमान अफसर हाशिए पर चले जाएंगे. यह भी बड़ा सवाल सामने आ रहा है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED