किल कोरोना अभियान की विश्वसनीयता पर खड़े हुए सवाल, ये है वजह!

किल कोरोना अभियान की विश्वसनीयता पर खड़े हुए सवाल, ये है वजह!
Spread the love

इंदौर . मध्य प्रदेश में किल कोरोना अभियान का आज आखिरी दिन है। 15 दिनों तक चलने वाले इस अभियान की शुरूआत 1 जुलाई को हुआ था।  इस अभियान के तहत 14 जुलाई  तक  6 लाख 80 हजार परिवारों में  31 लाख 31 हजार लोगों का सर्वे पूरा होने का दावा किया जा रहा है।  यह सर्वे ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में एक साथ चल रहा है। इस अभियान में आए आंकड़े सर्वे के नतीजों पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे हैं । दरअसल जिस जिले में कोरोना मरीजों की सख्या रोजाना 40 से 90 के बीच बढ़ रही हो, वहां 13 दिन के सर्वे में मात्र 4356  कोरोना के संदिग्ध निकले । जिसमें मात्र 35 मरीज कोरोना पॉजिटिव निकले। इसके साथ ही डेंगू के  16 व  मलेरिया के 973 संदिग्ध भी मिले हैं।

इस मामले में जब डॉ जड़िया से  सवाल किया तो उन्होंने अब भी ज्यादा मरीज कॉन्टेक्ट ट्रैसिंग में निकलने की बात कही। 13 दिन में 31 लाख लोगों के सर्वे में महज 35 पॉजिटिव मरीज निकलना न सिर्फ हैरान करता है बल्कि किल कोरोना अभियान की विश्वसनीयता पर भी सवाल खड़े करता है। संभावना जताई जा रही है कि सर्वे को दो या तीन दिनों के लिए बढ़ाया जा सकता है।

 

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED