साध्वी प्रज्ञा का प्रयश्चित, 21 घंटे के लिए मौन और कठोर तपस्या पर !

साध्वी प्रज्ञा का प्रयश्चित, 21 घंटे के लिए मौन और कठोर तपस्या पर !
Spread the love

भोपाल– मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ट्वीट करते हुए देशवासियो से माफ़ी मांगकर 21 घंटे के लिए मौन और कठोर तपस्यारत की बात की. सोमवार को प्रज्ञा ठाकुर ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया कि- चुनावी प्रक्रियाओ के उपरान्त अब समय है चिंतन मनन का, इस दौरान मेरे शब्दों से समस्त देशभक्तों को यदि ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा प्रार्थी हूँ और सार्वजनिक जीवन की मर्यादा के अंतर्गत प्रयश्चित हेतु 21 प्रहर के मौन व कठोर तपस्यारत हो रही हूं.

 

ddddd

 

दरअसल प्रज्ञा ने चुनाव प्रचार के दौरान महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या करने वाले गोडसे को देशभक्त बोला था. कमल हासन ने कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था और उसका नाम था नाथूराम गोडसे. इस बयान पर साध्वी प्रज्ञा ने पलटवार करते हुए कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और देशभक्‍त रहेंगे. इसके बाद से सियासत गरमा गई और प्रज्ञा की आलोचना होने लगी थी.

इस बयान के बाद से पार्टी पर कहर मंडराने लगा और पार्टी ने साध्वी पर माफी मांगने का दबाव बनाया. इसके बाद साध्वी प्रज्ञा ने माफ़ी मांगी और ट्वीट कर कहा कि मेरे शब्दों से समस्त देशभक्तों को यदि ठेस पहुंची है तो मैं इसके लिए माफी मांगती हूं और अब वह 21 प्रहर का मौन रखेंगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खरगोन में हुई अपनी आखिरी चुनावी रैली में एक न्यूज चैनल से हुई बातचीत में ठाकुर की आलोचना करते हुए कहा था कि वे सुश्री ठाकुर को मन से कभी माफ़ नहीं कर पाएंगे. इस बयान से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है.

इसके पहले भी ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे पर विवादित बयान दिया था जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने उनके चुनाव प्रचार अभियान पर 72 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया था.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0
© 2021 MP NEWS AND MEDIA NETWORK PRIVATE LIMITED